Top
Action India

संयम बरतते हुए क्रिया योग से कोरोना को कर सकते हैं परास्त : डॉ. मंगेशदा

संयम बरतते हुए क्रिया योग से कोरोना को कर सकते हैं परास्त : डॉ. मंगेशदा
X

नई दिल्ली । एएनएन (Action News Network)

सदगुरू मंगेशदा क्रिया योग फाउंडेशन के संस्थापक सदगुरू योगीराज डॉ. मंगेशदा ने गुरुवार को ‘कोरोना में योग क्रिया’ विषय पर फेसबुक के माध्यम से लोगों को परामर्श दिया। उन्होंने कहा कि कोरोना की जंग बुद्धिमानी के साथ जीतनी होगी क्योंकि क्रिया योग के जरिए हम किसी भी महामारी को परास्त कर सकते हैं। इसके लिए हमें संयम से काम करना होगा।

इंटरनेशनल नैचुरोपैथी ऑर्गेनाइजेशन (आईएनओ) और सूर्या फाउण्डेशन की ओर से सोशल मीडिया के फेसबुक ऐप के जरिए लाइव वार्ता में डॉ. मंगेशदा ने कहा कि क्रिया योग हमें सिखाता है कि हम कैसे अपनी इंद्रियों पर काबू रखता सकते हैं। उन्होंने बताया कि दुनिया की चकाचौंध में फंसने के बजाय इंसान को आगे बढ़ना है तो थोड़ा सा विश्राम करके अपनी शक्ति का इस्तेमाल करने के बारे में अध्ययन करना चाहिए।डॉ. मंगेशदा ने कहा कि जिंदगी की जरूरत में सबसे पहले सांस, जल, भोजन की मांग है। शक्ति के संचार के लिए सारी चीजें मेरे साथ हैं। आज नदी का जल एकदम स्वच्छ और हवा शुद्ध हो गई है।

बीते कई माह से देखा जाता था कि बढ़ते प्रदूषण के चलते अस्थमा और अन्य बीमारियां बढ़ रही हैंं।भगवत गीता में श्रीकृष्ण ने कहा था कि बड़े योद्धा भीष्माचार्य जैसे लोगों को अपनी बुद्धिमत्ता से अर्जुन परास्त कर देगा। इस युद्ध को लड़ने का अर्जुन तुम एक जरिया हो। इस दौरान सबने अनुभव किया कि लाखों लोग मारे गए। फिर जब युद्ध समाप्त हुआ, तो पांडव सेना की ही जीत हुई थी।कहने का तात्पर्य यही है कि कलयुग के इस कोरोना काल को बुद्धिमानी से हराना होगा। इसे परास्त करने के लिए सबसे सरल उपाय योगा और व्यायाम है। उन्होंने कहा कि हमें संयम से काम करना होगा। हमारा जीवन अमूल्य है। इसके प्रति हमेंं आदर होना चाहिए।

हमेंं खुद के लिए नहीं बल्कि समाज के लिए भी कुछ करना होगा। हर एक को इसका अंदाजा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना जाने के बाद बहुत बड़ा नुकसान होने वाला है। मैं खुद एक संयासी हूं। नौ साल मेरे गुरु जी ने तपस्या के लिए समाज से मुझे अलग रखा। इस काल से बचने के लिए अपने आपको क्वारेंटाइन जरूर करें। उन्होंने कहा कि अपने शरीर से हम सब एक हैं। ऐसी भावना रखनी चाहिए। साथ ही हमें अफवाहों से दूर रहना होगा। मैं इस वक्त के योद्धाओं को नमन करता हूं। ऐसी गंभीर संकट के समय हम घरों में रहें, ताकि अपने को बचाया जा सके।

Next Story
Share it