Top
Action India

सिविल सचिवालय को दोनों स्थानों पर खोलने संबंधी फैसला ऐतिहासिक : डोगरा सभा

जम्मू । एएनएन (Action News Network)

डोगरा सदर सभा के अध्यक्ष ठाकुर गुलचैन सिंह चाढ़क ने मंगलवार को कहा कि यूटी सरकार द्वारा सिविल सचिवालय को दोनों स्थानों से खोलने संबंधी फैसला एक स्वागत योग्य और एतिहासिक है।उन्होंने कहा कि प्रकृति ने दोनों स्थानों पर सचिवालय को कार्यशील रखने का फैसला लेने के लिए सरकार को मजबूर किया है। चाढ़क ने कहा कि इसके सफल परीक्षण के बाद इस प्रणाली को एक स्थायी उपाय के रूप में अपनाया जाना चाहिए ताकि दरबार मूव पर होने वाले बेकार के करोड़ों रुपयों की बचत हो सके।

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही इससे सरकार दोनों प्रांतों के लोगों के लिए भी पूरा साल उपलब्ध हो पायेगी जिसकी उनको आवश्यकता है। उन्होंने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सरकार की ओर से किए जा रहे प्रयासों को सभा की ओर से पूरा सहयोग देने की बात कही। उन्होंने लोगों से प्रतिबंधों का कड़ाई से पालन करने और कोरोना वायरस की जांच के लिए आगे आने को भी कहा। साथ ही सामाजिक दूरी बनाए रखने व घरों में ही रहने का भी लोगों से आग्रह किया।उन्होंने कहा कि वित्तीय, शैक्षिक, नौकरियों और विकास के अवसरों के सभी आवंटन प्रत्येक क्षेत्र के लिए अलग-अलग किए जाने चाहिए।

यह पीर पंचाल के दोनों ओर की आबादी के लिए एक अधिक सुगम प्रणाली होगी और इससे सभी लोग भी संतुष्ट होंगें।डोगरा सभा ने नौकरी नीति को वापस लेने और सभी नौकरियों को स्थानीय युवाओं के लिए रखने के सरकार के फैसले का भी स्वागत किया। यूटी में स्थानीय युवाओं के लिए यह आवश्यक था क्योंकि युवाओं को कश्मीर घाटी में आतंकवाद और जम्मू संभाग के सीमावर्ती क्षेत्रों में पाकिस्तानी फायरिंग के कारण शिक्षा संस्थानों के लगातार बंद होने से काफी हद तक प्रभावित होना पड़ा है।

Next Story
Share it