Top
Action India

डीगढ़ पुलिस कर्मी लड़की के साथ कंडाघाट में पकड़ा

सोलन । एएनएन (Action News Network)

चंडीगढ़ से शिमला के लिए मोटरसाइकिल पर लड़की को बैठाकर ले जा रहा पुलिस कर्मी करीब 80 किलो सफर कर कंडाघाट में लॉक डाउन के दौरान पुलिस के हत्थे चढ़ा। पकड़े जाने के बाद उसने बताया कि वह चंडीगढ़ 26 सेक्टर में कांस्टेबल के पद पर बतौर एम्बुलेंस चालक कार्यरत है ।
शनिवार को वह अपनी रात की ड्यूटी समाप्त कर घर जा रहा था । तभी 32 सेक्टर के चौक पर उसे ये लड़की मिली । जिसने उससे शिमला जाने की मदद मांगी । क्योंकि वह 21 मार्च से चंडीगढ़ में लॉक डाउन के चलते अपने दोस्त के घर में फंस गई थी । इसलिए उसे अपनी मोटरसाइकिल पर बिना कर्फ्यू परमिशन के ही शिमला छोड़ने चल दिया।

हैरत की बात है कि पंजाब, हरियाणा पार करके हिमाचल की सीमा में दाखिल होने के बाद भी कोई व्यक्ति सोलन जिला मुख्यालय से 17 किलोमीटर दूर नाके पर पकड़ा जाता है । कोरोना महामारी के दौरान सख्ती बरती जा रही है, जिसकी सच्चाई सामने आने पर पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिंह लगना लाजमी है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिव कुमार शर्मा से जब इस बाबत बात की गई तो उन्होंने कहा की पकड़ा गया व्यक्ति 26 सेक्टर में कांस्टेबल के पद पर तैनात है तथा एम्बुलेंस चालक है। जिसने बयान में कहा कि वह अपनी रात की ड्यूटी से घर जा रहा था तभी उसे शिमला जिला के सुनन्नी निवासी लड़की मिली । जिसने बताया कि वह 21 मार्च से चंडीगढ़ में फंसी है और उसे शिमला पहुंचना है ।

इसलिए उसकी मदद के तौर पर वह मोटरसाइकिल शिमला छोड़ने निकल पड़ा। इस दौरान परवाणू के नाके पर उसने लड़की को उतार दिया और खुद मोटरसाइकिल पर नाके से पार निकल गया । लेकिन कंडाघाट में पुलिस ने उसे ऐसा करते हुए धर दबोचा। शिव कुमार शर्मा ने बताया कि पुलिस ने इन दोनों के खिलाफ धारा 188 व 269 के तहत मामला दर्ज कर 14 दिनों के लिए कंडाघाट में क़वेरेन्टीन में भेज दिया गया है और जांच की जा रही है ।

Next Story
Share it