Top
Action India

कोरोना संकट के बीच कलोहा बार्डर पंहुच गया चीनी पर्यटक, किया संस्थागत संगरोध

धर्मशाला । Action India News

कोरोना संकट के बीच एक चीनी पर्यटक बुधवार देर शाम कांगड़ा के कलोहा बार्डर पहुंच गया, जिसके बाद से हड़कंप मच गया। पुलिस ने इस शख्स को अब संस्थागत संगरोध केंद्र में भेज दिया है।

पुलिस के मुताबिक यह चीनी व्यक्ति दिल्ली से कांगड़ा पहुंचा। हिमाचल में अभी भी बाहरी राज्यों से सार्वजनिक परिवहन सेवा बंद है, ऐसे में किसी विदेशी पर्यटक के हिमाचल के किसी भी कोने में पहुंचने का सवाल नहीं उठता है। बावजूद इसके इस चीनी पर्यटक ने कांगड़ा में प्रवेश कर लिया ये सबसे बड़ा सवाल है।

बताया जा रहा है कि ये व्यक्ति पहले दिल्ली से रेलमार्ग से चंडीगढ़ और फिर किसी तरह ऊना पंहुच गया। ऊना के बाद यह बस से कांगड़ा और ऊना की सीमा पर बने बैरियर के कलोहा तक पहुंच गया, जहां पुलिस ने दस्तावेजों की जांच की।

पुलिस पड़ताल में पाया गया कि पर्यटक के पास अन्य सभी दस्तावेज तो पुख्ता हैं, मगर उसके पास कोविड प्रमाणपत्र नहीं था। कोविड-19 टेस्ट का नेगेटिव प्रमाण पत्र ना होने के बाद अब पुलिस ने इस चीनी पर्यटक को कलोहा में ही संस्थागत संगरोध कर दिया है, जहां उससे जानकारी जुटाई जाएगी और फिर वापस भेजा जा सकता है।

फिलहाल, कांगड़ा पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है। कुछ देर के लिए मामला इसलिए गंभीर बन गया क्योंकि यह व्यक्ति चीनी है और धर्मगुरू दलाईलामा इन दिनों धर्मशाला में ही हैं। वहीं भारत और चीन के बीच चल रहे तनाव के चलते भी पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए उसके हर दस्तावेजों की गहराई से जांच की जो पुख्ता पाए गए हैं।

एसपी कांगड़ा ने विमुक्त रंजन ने बताया कि बुधवार देर शाम एक चीनी व्यक्ति बस द्वारा कांगड़ा जिला के कलोहा बार्डर पर पंहुच गया। पुलिस ने जब उसके दस्तावेजों की जांच की तो वह सभी वैध पाए गए।

हालांकि इसके पास न तो कोविड-19 की नेगटिव टेस्ट रिपोर्ट थी और न ही पांच दिन की होटल की एडवांस बुकिंग थी। ऐसे में उसे फिलहाल कलोहा में ही संस्थागत संगरोध कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि उसके कोरोना सैंपल लिए जाऐंगे, अगर उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो उसे वापस भेज दिया जाएगा।

Next Story
Share it