Action India
अन्य राज्य

श्री आरा गौशाला के जमीन की अवैध बिक्री की सीआईडी जांच की मांग

श्री आरा गौशाला के जमीन की अवैध बिक्री की सीआईडी जांच की मांग
X

आरा । एएनएन (Action News Network)

पुराने शाहाबाद जिले के मुख्यालय आरा में गौ माताओं के संरक्षण और सुरक्षा को ले प्रसिद्ध समाजसेवी और जनसंघ के संस्थापक सदस्य स्व.राम खेलावन सिंह ने कुछ लोगो के साथ मिलकर श्री आरा गौशाला का निर्माण जिन लक्ष्यों और उम्मीदों के साथ किया था अब उनके परिवार के ही कुछ लोग श्री आरा गौशाला की नींव उखाड़ने में लग गए हैं।

बाबू राम खेलावन सिंह ने गौ माताओं की सुरक्षा और संरक्षण को लेकर शहर के कुछ लोगो के साथ मिलकर 3 एकड़ 7 डिसमिल जमीन आरा के गौस गंज आरा बड़हरा सड़क के किनारे दिया था। जहाँ भटकी हुई गायों को भी इसी गौशाला में संरक्षण और सुरक्षा मिलती है।

तब राम खेलावन सिंह ने बड़े सपने देखे थे और 3 एकड़ 7 डिसमिल जमीन को दान करके गौ माताओं के प्रति अपना ऋण चुकाया था। वर्षो तक श्री आरा गौशाला अपने लक्ष्यों की तरफ आगे बढ़ता रहा किन्तु अब राम खेलावन सिंह के परिवार के कुछ लोगो ने श्री आरा गौशाला की जमीन को बेचना शुरू कर दिया है और नतीजा है कि गौशाला की जमीन पर अब गायों के आशियाने उजाड़ कर लोगो ने घर बनाना शुरू कर दिया है। अब तक इस जमीन पर कई मकान भी खड़े हो चुके हैं।

राम खेलावन सिंह के परिवार के अगली पीढ़ी के सदस्य और समाजसेवी दिलीप सिंह ने श्री आरा गौशाला की जमीन बेचे जाने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है और कहा है कि उनके बाबा और जनसंघ के संस्थापक सदस्य स्व.राम खेलावन सिंह ने गौ माताओं के संरक्षण,सुरक्षा और उन्हें पर्याप्त भोजन की व्यवस्था को लेकर श्री आरा गौशाला का निर्माण किया था। यह गौशाला एक बोर्ड के अधीन किया गया और इसके अध्यक्ष के रूप में आरा के सदर एसडीएम को अधिकृत किया गया।

श्री आरा गौशाला के पदेन अध्यक्ष सदर एसडीएम ही होते हैं। नियमतः श्री आरा गौशाला की जमीन को बेचने का अधिकार किसी को नही है। समाजसेवी दिलीप सिंह ने अपने ही परिवार के जयचंद्र राणा भगत सिंह पर श्री आरा गौशाला की जमीन को अजहर अहमद और असगर अहमद के साथ मिलकर बेचने की बात कही है।

उन्होंने कहा है कि दान की गई जमीन को बिक्री और खरीद का अधिकार किसी को नही है। उन्होंने इस खरीद बिक्री की सीआईडी जांच कराने की मांग की है और तत्काल डीड संख्या -2783 दिनांक -9.3.2020 और अन्य डीड को रद्द करने और पूरे मामले की सीआईडी जांच कराकर दोषियों पर एफआईआर दर्ज करने की मांग की है।

Next Story
Share it