Top
Action India

यूएस-तालिबान शांति समझौते के बावजूद अफगानिस्तान में नागरिकों की हत्या: यूएन

यूएस-तालिबान शांति समझौते के बावजूद अफगानिस्तान में नागरिकों की हत्या: यूएन
X

नई दिल्ली । एएनएन (Action News Network)

संयुक्त राष्ट्र ने अपने एक बयान में कहा कि साल के पहले तीन महीनों में अफगानिस्तान में 500 से अधिक नागरिक मारे गए हैं, अफगानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सहायता मिशन (UNAMA) ने सोमवार को अपनी तिमाही रिपोर्ट में कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका और तालिबान के बीच विदेशी सेना को वापस लेने के बीच एक समझौते के बाद भी युद्धग्रस्त देश में शांति लाने के लिए हस्ताक्षर किए गए थे । वर्ष के पहले तीन महीनों में हमले के दौरान 1,293 लोग हताहत हुए थे, जिनमें से 760 लोग घायल हुए और बाकी लोगों की मौत हो गयी है। मरने वालों में 152 बच्चे और 60 महिलाएं शामिल हैं।

मार्च में तालिबान सुरक्षा गारंटी के बदले में अमेरिकी नेतृत्व वाली विदेशी सेना की वापसी पर अमेरिकी-तालिबान सौदे के बाद मार्च में हताहतों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है। इस समझौते में तालिबान और अफगान सरकार द्वारा देश में 18 साल के युद्ध को समाप्त करने की दिशा में काम करने की कोशिश की जा रही है। औपचारिक शांति वार्ता की दिशा में प्रयास विफल हो गए हैं क्योंकि तालिबान ने हिंसा को कम करने के लिए अमेरिका से चेतावनी के बावजूद सरकारी बलों पर हमला करना जारी रखा है, साथ ही कैदियों की रिहाई पर असहमति भी व्यक्त की है।

Next Story
Share it