Top
Action India

रमजान में जकात की रकम राहत कोष में जमा कराएं : गौरी

रमजान में जकात की रकम राहत कोष में जमा कराएं : गौरी
X

  • शहर काजी ने जारी की अपील

धौलपुर । एएनएन (Action News Network)

शहर काजी मौहम्मद मतीन खान गौरी ने कहा है कि रमजान शरीफ के मुबारक महीने में घर पर ही नमाज अता करें तथा जकात की रकम को प्रशासन के राहत कोष में जमा कराएं। शुक्रवार को जारी अपील में शहर काजी गौरी ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण लॉक डाउन की स्थिति को देखते हुए इस महीने में मस्जिदों में सभी नमाजें और तरावीह पांच लोग ही पढ़ें। जैसा की पहले से ही सभी मस्जिदों में चार लोग और इमाम यानि पांच लोगों द्वारा ही सारी नमाज अदा की जा रही है। बाकी सभी लोग अपने घरों में ही इबादत करें।

उन्होंने धौलपुर जिले के मुस्लिम समुदाय के लोगों से अपील की है कि जो लोग माले निसाब यानि सक्षम हैं वह रमजान के इस मुबारक महीने में जकात और फितरा की रकम प्रशासन के राहत कोष में जमा कराएं। जिससे इस राशि का उपयोग जरूरतमंदों की मदद के लिए किया जा सके। सभी लोग जकात वह फितरे की रकम जरूरतमंद व्यक्ति चाहे वह हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई कोई भी हो, को दें और चंदाखोरो से बचें।

शहर काजी ने कहा कि सभी मुस्लिम समुदाय के लोग जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन का पूर्ण रूप से सहयोग करें। अगर कोई भी व्यक्ति सरकार द्वारा जारी लॉक डाउन की अवहेलना करता है तो वह स्वयं जिम्मेदार होगा।

Next Story
Share it