Action India
अन्य राज्य

गरीब कल्याण रोजगार : मुख्यमंत्री योगी ने उप्र के 31 जिलों के चयन पर प्रधानमंत्री का जताया आभार

गरीब कल्याण रोजगार : मुख्यमंत्री योगी ने उप्र के 31 जिलों के चयन पर प्रधानमंत्री का जताया आभार
X

  • कहा, गांवों में आजीविका के अवसरों को बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान करेगा अभियान

लखनऊ । एएनएन (Action News Network)

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा आज गरीब कल्याण रोजगार अभियान का शुभारम्भ किये जाने पर उनका हार्दिक अभिनन्दन किया है। इस अभियान में उत्तर प्रदेश के 31 जनपदों को चयनित किये जाने पर मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री के प्रति हृदय से आभार व्यक्त किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में गरीब कल्याण व ग्रामीण विकास को नया आधार देने के लिए प्रधानमंत्री की पहल पर संचालित किया जा रहा यह अभियान गांवों में आजीविका के अवसरों को बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान करेगा। उत्तर प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री की आकांक्षाओं तथा अपेक्षाओं के अनुरूप गरीब कल्याण रोजगार अभियान को संचालित करते हुए इसका लाभ जन-जन तक पहुंचाने के लिए कृतसंकल्पित है।

गौरतलब है कि वापस आये श्रमिकों तथा गांव के लोगों को सशक्त बनाने के उद्देश्य से देश के 06 राज्यों के 116 जनपदों में 125 दिन का यह अभियान संचालित किया जा रहा है। इस अभियान में उत्तर प्रदेश के 31 जनपद चयनित किये गये हैं।

इन जनपदों में सिद्धार्थनगर, प्रयागराज, गोण्डा, महराजगंज, बहराइच, बलरामपुर, जौनपुर, हरदोई, आजमगढ़, बस्ती, गोरखपुर, सुल्तानपुर, कुशीनगर, संतकबीरनगर, बांदा, अम्बेडकरनगर, सीतापुर, वाराणसी, गाजीपुर, प्रतापगढ़, रायबरेली, अयोध्या, देवरिया, अमेठी, लखीमपुर खीरी, उन्नाव, श्रावस्ती, फतेहपुर, मिर्जापुर, जालौन और कौशाम्बी शामिल हैं।

गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत कामगारों की रुचि और कौशल के अनुरूप रोजगार व स्वरोजगार के कार्य कराये जाएंगे। ग्रामीण सार्वजनिक परिसम्पत्तियों के निर्माण के अन्तर्गत सड़क, ग्रामीण आवास, बागवानी, पौधा रोपण, जल संरक्षण एवं सिंचाई, आंगनवाड़ी, पंचायत भवन, तथा जल जीवन मिशन आदि से जुडे़ 25 कार्य सम्मिलित किये गये हैं।

इस अभियान के संचालन से रोजगार की तुरन्त आवश्यकता वाले कामगारों को विभिन्न कार्य क्षेत्रों में रोजगार के अवसर मिलेंगे तथा वे अपने ही गांव में जीविकोपार्जन की विभिन्न गतिविधियों के लिए प्रोत्साहित भी होंगे।

Next Story
Share it