Action India
अन्य राज्य

पश्चिम बंगाल व कर्नाटक के 2962 कोचिंग छात्र कोटा से रवाना

पश्चिम बंगाल व कर्नाटक के 2962 कोचिंग छात्र कोटा से रवाना
X

कोटा । एएनएन (Action News Network)

कोरोना संकट के कारण शिक्षा नगरी कोटा से विभिन्न राज्यों के कोचिंग विद्यार्थियों की घर वापसी का सिलसिला जारी है। बुधवार सुबह कर्नाटक के 162 तथा शाम को पश्चिम बंगाल के 2800 विद्यार्थियों सहित दोनो राज्यों के कुल 2962 कोचिंग छात्र सुरक्षित ढंग से घरों के लिए रवाना हो गये।

कोटा में विभिन्न संस्थानों में कोचिंग ले रहे कर्नाटक के 162 छात्र 7 बसों से रवाना हो गये। इसके बाद बुधवार शाम को पश्चिम बंगाल के 2800 विद्यार्थी 101 बसों से शहर के तीन बस स्टेंड से रवाना हुए। विद्यार्थियों को पश्चिम बंगाल के तीन जोन कोलकाता, सिलीगुड़ी व आसनसोल में भेजा जा रहा है। वहां 14 दिन क्‍वारेंटाइन के पश्चात् वे अपने जिलों में रवाना होंगे। कोलकाता जोन में हुगली, हावड़ा, कोलकाता, नॉर्थ 24 परगना, पुरबा मेदिनीपुर, साउथ 24 परगना एवं पश्चिम मिदनापुर के विद्यार्थी शामिल है। सिलीगुड़ी जोन में अलीपुरदौर, कूच बेहार, दक्षिण दिनाजपुर, दार्जिलिंग, जलपाईगुड़ी, मालदा एवं उत्तर दिनाजपुर के विद्यार्थी तथा आसनसोल जोन में बांकुरा, बर्धमान, बीरभूम, मुर्शिदाबाद, नाडिया एवं पुरुलिया के विद्यार्थी शामिल होंगे।

कोटा जिला प्रशासन तथा कोचिंग संस्थानों द्वारा विद्यार्थियों को सोशल डिस्टेसिंग के साथ मास्क, पेयजल, खाद्य सामग्री आदि वितरित की गई। अभिभावकों तथा विद्यार्थियों ने राजस्थान सरकार के साथ ही कर्नाटक व पश्चिम बंगाल सरकार के इस निर्णय का स्वागत किया कि उन्होंने विद्यार्थियों की परीक्षाओं का ध्यान रखते हुये बसों की व्यवस्था करवाई है।

11 राज्यों के छात्र घर लौटे

इससे पहले उत्तरप्रदेश व उत्तराखंड से सर्वाधिक 7500, मध्यप्रदेश के 1197, पंजाब, छत्तीसगढ, हरियाणा, गुजरात, असम, जम्मू-कश्मीर, दमन-दीव सहित राजस्थान के विभिन्न जिलों में कोचिंग विद्यार्थियों को बसों से रवाना किया जा चुका है। इधर कोरोना महामारी का प्रकोप फैलने के कारण कोटा में पढाई नहीं कर पा रहे बिहार व महाराष्ट्र के कोचिंग विद्यार्थी अपनी अपनी राज्य सरकारों से उन्हें घर भेजने की अनुमति देने के लिये निरंतर अपील कर रहे हैं।

Next Story
Share it