Action India

लॉकडाउन के दौरान ड्यूटी कर्मचारियों के अलावा कोई भी घर से बाहर न निकलें : कलेक्टर

लॉकडाउन के दौरान ड्यूटी कर्मचारियों के अलावा कोई भी घर से बाहर न निकलें : कलेक्टर
X

कलेक्टर ने सेक्टर अधिकारियों से ली खाद्यान्न संबंधी जानकारी

मुरैना। एएनएन (Action News Network)

कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुये पूरे देश में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया गया है। लॉकडाउन के दौरान जिन अधिकारियों एवं कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है, उनको छोड़कर कोई भी व्यक्ति घर से बाहर न निकलें। यह अपील कलेक्टर प्रियंका दास ने मुरैना जिले के लोगों से की है। उन्होंने रविवार को अधिकारियों से प्रत्येक सेक्टर वायज अपने-अपने क्षेत्र की जानकारी ली और ऐसे परिवारों की सूची भी प्राप्त की, जो बाजार से खाद्यान्न खरीद नहीं पा रहे है। बैठक में बताया गया कि ऐसे परिवारों को 7 दिन के मान से शनिवार को खाद्यान्न किट प्रदान की गई है। इसके साथ ही उन्होंने समस्त अधिकारियों से वार्ड वायज सूची अपडेट की। सूची के आधार पर खाद्यान्न किट दीनदयाल रसोई में उपलब्ध कराई जायेंगी। जो डिमान्ड के अनुसार वार्डों में बेघर परिवारों को उपलब्ध कराई जायेगी।

उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति जिसके पास राशन या खाद्यान्न सामग्री समाप्त हो चुकी है, वे मोबाइल नम्बर 9303191948, 8319961592, 07532400200, 8839490664, 8319373606, 9826654855 पर सूचित करें, तत्काल मोबाइल वेन उसके घर पर पहुंचकर खाद्यान्न सामग्री थोक रेट के भाव में उपलब्ध करायेगी। इसके अलावा कई ऐसे परिवार है जो बेघर है, उनके लिये दान-दाताओं द्वारा खाद्यान्न सामग्री की किट तैयार कर दीनदयाल रसोई में उपलब्ध कराई जा रही है। उन किटों में से 13 सेक्टर अधिकारियों के माध्यम से उन व्यक्तियों तक निःशुल्क पहुंचाने का कार्य किया जायेगा। उनके लिये मुरैना शहर के 47 वार्डों में 13 सेक्टर मजिस्ट्रेट बनाये है।

कलेक्टर ने निर्देश दिये कि बीपीएल परिवारों को एक मुश्त तीन माह का राशन कन्ट्रॉल की दुकान से उपलब्ध करा दिया गया है। किन्तु कई ऐसे परिवार है जिनके पास बीपीएल या पात्रता पर्ची नहीं है वे परिवार अपने नजदीकी कन्ट्रॉल की दुकान से 5 किलो गेहूं एवं 1 किलो चावल निःशुल्क आईडी दिखाकर प्राप्त कर सकते है। इसके अलावा पंडित दीनदयाल रसोई पर भी यह सुविधा उपलब्ध रहेगी।

विभाग भी कराएं ड्राई खाद्यान्न उपलब्ध

कलेक्टर ने विभागों से कहा है कि बेघर परिवारों की मदद के लिये विभाग भी आगे आयें और कलेक्शन कर सूखा खाद्यान्न के पैकेट बनवाकर दीनदयाल रसोई में उपलब्ध करायें। जिससे उन तक पहुंचाया जा सके।

पेयजल, विद्युत, स्वास्थ्य सेवाएं जारी रहे

बैठक के दौरान पीएचई अधिकारी आरएन करैया ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में पेयजल की समस्या को ध्यान में रखते हुये पीएचई विभाग द्वारा टीम गठित कर दी गई है। यह टीम ग्राम पंचायत स्तर पर बंद पड़ी नलजल योजनाओं को प्रारंभ करने का कार्य कर रही है। उन्हें पुलिस प्रशासन द्वारा अनावश्यक रोका जा रहा है। इस पर कलेक्टर ने पीएचई विभाग को आश्वस्त किया कि हेण्डपम्प सुधार कार्य में लगे कर्मचारियों को असुविधा न हो। पुलिस प्रशासन यह सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने कहा कि पेयजल, विद्युत और हेल्थ के कार्य प्राथमिकता पर है, इन्हें किसी भी हालत में रोका न जायें।

होम आईसोलेशन व्यक्ति घर से बाहर न निकलें, होगी दण्डात्मक कार्रवाही

कलेक्टर ने कहा है कि अन्य प्रांतों से आने वाले व्यक्तियों की स्क्रीनिंग जांच के बाद होम आईसोलेशन के लिये घर भेज दिया है। वह व्यक्ति 14 दिन तक स्वयं की एवं अपने परिवार की सुरक्षा को बनाये रखने के लिये घर से बाहर न निकलें। कलेक्‍टर ने कहा कि यदि होम आईसोलेशन वाले व्यक्ति घर से निकलें या कोई भी सामग्री लेने के लिये घर से बाहर दिखें तो उनके खिलाफ तत्काल एफआईआर होगी।

Next Story
Share it