Top
Action India

कोरोना से जंग : जरूरतमंदों की सेवा में जुटा आरएसएस, वाराणसी में 1719 परिवारों को लिया गोद

कोरोना से जंग : जरूरतमंदों की सेवा में जुटा आरएसएस, वाराणसी में 1719 परिवारों को लिया गोद
X

  • वाराणसी के स्वयंसेवक टोलियों में पहुंचा रहे राहत सामग्री,बेझिझक जरूरतमंद मांग सकते है सहायता

वाराणसी । एएनएन (Action News Network)

वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के बीच जरूरतमंदों और गरीबों की मदद में बेहद खामोशी से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) काशी प्रांत के स्वयंसेवक जुटे हुए हैं। स्वयंसेवक प्रशासन व पुलिस के सहयोग से भोजन या खाद्यान्न सामग्री तैयार कर गरीब बस्तियों व निर्धन वर्ग के लोगों में लगातार वितरित कर रहे है। वाराणसी जिले में कुल 483 स्वयंसेवक 136 स्थानों पर लगभग 69133 से अधिक जरूरतमंदों तक मदद पहुंचा चुके है।
शनिवार को 'हिन्दुस्थान समाचार' से बातचीत में आपदा प्रबंधन सेवा कार्य वृत देख रहे सह विभाग कार्यवाह डा.राकेश कुमार तिवारी ने बताया कि संघ के स्वयंसेवक टोली बनाकर समाज के गरीब व जरूरतमंदों की हर तरह से मदद के प्रयास में लग गए हैं।

टोलियां सड़कों और गलियों में उतरकर लोगों को जरूरत का सामान व भोजन उपलब्ध करा रही है। संघ का प्रयास है कि समाज में कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन की वजह से कोई समस्या पेश न आए, कोई भूखा न रहे। उन्होंने बताया कि वाराणसी के स्वयंसेवकों ने 1719 परिवारों को गोद लिया है। स्वयंसेवकों के साथ स्वास्थ्य एवं परामर्श टोली भी चल रही है। स्वयंसेवक 115600 से अधिक भोजन के पैकेट बांट चुके है। राहत सामग्री में 18881 किग्रा चावल,31824 किग्रा आटा,8177 किलो दाल,10294 किलो आलू,623 किलो चीनी और गुड़,2186 सेनेटाइजर,816 पैकेट मसाला,1513 पैकेट सरसो तेल (एक लीटर),4605 साबुन,सैकड़ो मास्क सहित अन्य जरूरी सामान ​बांट चुके है।

डा. तिवारी ने बताया कि संघ के इस सेवा कार्य में आर्थिक सहायता के लिए सक्षम लोगों से भी मदद की दरकार है, ताकि आर्थिक संकट के कारण लोगों को जरूरत का सामान उपलब्ध कराने में कोई बाधा पेश न आए। लोग सहयोग भी कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि सेवा कार्य लॉकडाउन अवधि से अधिक समय तक चलता रहेगा। सेवा कार्य के दौरान लोगों को कोरोना को लेकर भी जागरूक किया जा रहा है। घर में रहने के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा जा रहा है। उन्होंने कहा कि जरूरतमंद लोग संघ से बेझिझक आवश्यक मदद मांग सकते है। उन्हें राशन के पैकेट जिसमें दाल, आटा-चावल व अन्य आवश्यक सामग्री दी जायेगी। निराश्रित लोगों को भोजन का पैकेट दिया जा रहा है।

Next Story
Share it