Top
Action India

बॉर्डर सील होने पर राजस्थान पुलिस से भिड़ंत, यूपी पुलिस के दो दारोगा घायल

बॉर्डर सील होने पर राजस्थान पुलिस से भिड़ंत, यूपी पुलिस के दो दारोगा घायल
X

  • एसएसपी और डीएम ने की भरतपुर एसएसपी से वार्ता, मामला हुआ शांत

मथुरा । एएनएन (Action News Network)

मथुरा जिले में प्रवासी मजदूरों के प्रवेश को लेकर राजस्थान और मथुरा पुलिस के बीच रविवार को हाथापाई हो गई। मथुरा पुलिस का आरोप था कि राजस्थान पुलिस ने सीमा पर लगा बैरियर तोड़कर प्रवासी मजदूरों को यूपी की सीमा में प्रवेश कराया है लेकिन मथुरा पुलिस ने उन्हें अन्दर नहीं आने दिया। इस बात को लेकर दोनों राज्यों की पुलिस आपस में भिड़ गई, जिसमें मथुरा के दो दारोगा घायल हुए हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौरव ग्रोवर, एसपी देहात श्रीश चन्द्र समेत डीएम मौके पर पहुंच गए। उन्होंने भरतपुर के आलाधिकारियों से संपर्क साधकर मामला शांत कराया।

मथुरा-भरतपुर सीमा पर राजस्थान की पुलिस प्रवासी श्रमिकों को बिना किसी रिकॉर्ड और थर्मल स्क्रीनिंग के यूपी में शनिवार को प्रवेश करा रही थी। मथुरा पुलिस ने इसका विरोध किया। उस वक्त तो राजस्थान के पुलिसकर्मी मान गए लेकिन देर रात प्रवासी श्रमिकों को फिर यूपी में प्रवेश कराने का प्रयास किया गया। मथुरा की सीमा पर तैनात पुलिसकर्मियों ने इसका विरोध किया। इस पर दोनों राज्यों की पुलिस आमने-सामने आ गई।

इसी दौरान राजस्थान के पुलिसकर्मियों ने सीमा पर लगा बैरियर तोड़ दिया। इससे कई श्रमिक मथुरा में प्रवेश कर गए। बाद में इन मजदूरों को रोका गया। रविवार सुबह तक दोनों राज्यों के पुलिसकर्मियों में तकरार होती रही। राजस्थान पुलिस के उच्च अधिकारी भी वहां आ गए। मथुरा के एसएसपी गौरव ग्रोवर सहित अन्य पुलिस अधिकारी सीमा पर पहुंच गए। उन्होंने राजस्थान भरतपुर के पुलिस अधिकारियों के साथ बातचीत की गई। दोपहर को मथुरा के जिलाधिकारी भी सीमा पर पहुंचे। उन्होंने भरतपुर डीएम और एसएसपी से वार्ता की जिसके बाद मामला शांत हो सका।

जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने बताया कि सात और आठ मई को करीब 15 हजार श्रमिक राजस्थान बॉर्डर से यूपी सीमा में आये थे। इसके बाद यह ऑपरेशन कल शाम बंद करते हुए बॉर्डर सील कर दिए थे। आज सुबह राजस्थान बॉर्डर से फिर श्रमिकों का आना शुरू हो गया लेकिन आदेश न होने के कारण यूपी पुलिस ने उन्हें प्रवेश नहीं करने दिया। इसके बावजूद बहुत से श्रमिकों को राजस्थान पुलिस ने मथुरा में प्रवेश भी करा दिया। इसी बात पर विवाद हुआ था लेकिन भरतपुर एसएसपी से बात होने के बाद मामला सुलझा लिया गया है। एसपी देहात श्रीश चंद ने बताया कि विवाद के दौरान मथुरा में आये श्रमिकों की तलाश की जा रही है। इसी बीच मथुरा के दो दारोगा पुष्पेन्द्र और अनिल कुमार घायल हुए हैं।

भरतपुर एसएसपी हैदर अली ने बताया कि प्रवासी मजदूरों को लेकर हंगामे की सूचना मिली थी। मथुरा जनपद के पुलिस अधिकारी और भरतपुर जिले के अधिकारी मौके पर पहुंचे और समझा-बुझाकर पुलिसकर्मियों को शांत कराया। अब किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं है। प्रवासी मजदूरों की आवाजाही जारी है।

Next Story
Share it