Action India
झारखंड

कांग्रेस ने बिजली विभाग और केईआई कंपनी की लापरवाही के खिलाफ आंदोलन की शुरुआत की

कांग्रेस ने बिजली विभाग और केईआई कंपनी की लापरवाही के खिलाफ आंदोलन की शुरुआत की
X

रांची । Action India News

प्रदेश कांग्रेस की ओर से बिजली विभाग और केईआई कंपनी की लापरवाही के खिलाफ बुधवार से चरणबद्ध आंदोलन की शुरुआत की गयी। आंदोलन के पहले चरण में पार्टी के नेताओं-कार्यकर्त्ताओं ने सामाजिक दूरी का पालन करते हुए रांची स्थित बिजली मुख्यालय के समक्ष फेसबुक लाइव के माध्यम से बिजली विभाग और केईआई के कुकृत्यों के बारे में जानकारी दी और सिर्फ लॉकडाउन अवधि में ही बिजली करंट लगने से राज्य के विभिन्न जिलों में हुई मौत का ब्यौरा देते हुए कहा कि इस अवधि में जितनी मौत कोरोना वायरस से नहीं हुई होगी, उससे ज्यादा मौत करंट लगने से हुई है। कांग्रेस ने बिजली बोर्ड मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया एवं बिजली अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की एवं कार्यालय को बन्द रखा।

कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, राजेश गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और खाद्य आपूर्ति मंत्री रामेश्वर उरांव के नेतृत्व में राज्य ईमानदारीपूर्वक काम कर रही है, लेकिन पूर्ववर्ती रघुवर दास ने अपने पांच वर्ष के कार्यकाल में पूरे बिजली विभाग की व्यवस्था को बिगाड़ने का काम किया है।

उनके कार्यकाल में बिजली विभाग की मनमानी और भ्रष्टाचार की बात किसी से छिपी नहीं है। नयी सरकार गठन के बाद व्यवस्था में बदलाव लाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अब तक उनके पास उपलब्ध सूची के अनुसार सिर्फ लॉकडाउन अवधि में ही बिजली विभाग की लापरवाही से करंट लगने से 20 लोगों की मौत हो गयी है, जबकि सभी जिलों से आंकड़ा प्राप्त हो जाने के बाद यकीनन यह कहा जा सकता है कि राज्य में जितने लोगों की मौत कोरोना वायरस से नहीं हुई होग, उससे अधिक मौत बिजली करंट लगने से हुई है।

उन्होंने कहा कि लापरवाही से हो रही निरंतर मौत के बावजूद के बाद बिजली विभाग के कुछ बेशर्म नेता यह कहते है कि करंट लगने से मौत नहीं हुई है और वे जनसेवा कर रहे है। इसलिए उन्हें सुरक्षा दी जाए। उन्होंने बताया कि शहर में करीब 800करोड़ रुपये की लागत से केबल बिछाने का काम किया जा रहा है।

लेकिन कंपनी की लापरवाही से 17 जुलाई को 11 हजार वोल्ट के तार की चपेट में आने से उनके भाई गोपी दूबे बुरी तरह से जख्मी हो गयी है और 17 दिनों से रांची के देवकमल अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहा है।

सोशल मीडिया के माध्यम से प्रदर्शन कर रहे पार्टी नेताओं ने बिजली विभाग के लापरवाह पदाधिकारियों को निलंबित कर विभागीय कार्यवाही शुरू करने, करंट लगने से मरने वाले आमजनों और बिजली विभाग के कर्मचारियों के आश्रितों को मुआवजा दिलाने तथा विभिन्न दुर्घटनाओं में जख्मी होने वाले लोगों के इलाज का पूरा खर्च वहन करने की मांग की है।

पार्टी नेताओं की ओर से कहा गया है कि करंट लगने से चाहे बिजली विभाग के कर्मचारियों की मौत हुई है या आम जन हादसे के शिकार हुए है, पार्टी उन परिवारों के आश्रितों को मुआवजा तथा सहायता मिलने तक आंदोलन को जारी रखेगी।

इस मौके पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नेता कमल ठाकुर,अजय सिंह,फिरोज रिजवी मुन्ना, संजीत यादव, कुमुद रंजन, सोनी नायक, रंजन यादव, विशाल सिंह,श्रीमती राखी कौर,युवा कांग्रेस के वेद प्रकाश तिवारी, चंदन सिंह,जितेंद्र त्रिवेदी, विभय शाहदेव, देवजीत देवघरिया,संजय झा आदि मौजूद थे।

Next Story
Share it