Top
Action India

कांग्रेस आलाकमान व मुख्यमंत्री भूपेश ने छत्तीसगढ़ के साहू सामाज को ठगा : प्रदीप साहू

रायपुर। एएनएन (Action News Network)

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस द्वारा छत्तीसगढ़ से राज्यसभा के लिए दिल्ली के अधिवक्ता केटीएस तुलसी को टिकट दिए जाने पर छत्तीसगढ़ छात्र संगठन (जोगी) के अध्यक्ष प्रदीप साहू ने शुक्रवार को तीखी प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त की है। प्रदीप साहू ने कांग्रेस आलाकमान पर कटाक्ष करते हुए प्रश्न किया कि क्या कांग्रेस पार्टी को छत्तीसगढ़ में एक भी योग्य नेता नहीं मिला जो राज्यसभा में भी आउटसोर्सिंग के माध्यम से बाहरी नेताओं को टिकट दी जा रही है? ऐसा करके कांग्रेस पार्टी ने छत्तीसगढ़ियों का घोर अपमान किया है।

प्रदीप साहू ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की नियत पर सवाल उठाते हुए कहा कि वर्ष 2018 के राज्यसभा चुनाव में जब संख्याबल के आधार पर भारतीय जनता पार्टी उम्मीदवार की जीत सुनिश्चित थी ,तब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रहते हुए भूपेश बघेल ने केवल नाम मात्र के लिए भाजपा उम्मीदवार सरोज पांडेय के विरुद्ध कांग्रेस से छत्तीसगढ़िया किसान लेखराम साहू को बलि का बकरा बनाते हुए मैदान में उतार दिया था। अब जब संख्याबल के आधार पर कांग्रेस उम्मीदवार की जीत शत प्रतिशत सुनिश्चित है, तब मुख्यमंत्री भूपेश को क्यों साहू सामाज की याद नहीं आयी। क्यों उन्होंने भीगी बिल्ली बनकर आलाकमान के सामने घुटने टेक दिए। प्रदीप साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री का छत्तीसगढ़ियावाद केवल एक छलावा है।

कांग्रेस आलाकमान पर भी सवाल उठाते हुए प्रदीप साहू ने कहा कि 2018 के विधानसभा चुनाव के ठीक पहले आलाकमान ने दुर्ग से तत्कालीन सांसद ताम्रध्वज साहू को विधानसभा चुनावों में उतार कर साहू सामाज में यह सन्देश देने की कोशिश की कि बहुमत आने पर ताम्रध्वज साहू को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा। परिणाम भी सबके सामने है। साहू सामाज ने एकतरफा कांग्रेस को वोट देकर कांग्रेस पार्टी को रिकॉर्ड बहुमत दिलाया। लेकिन उसके बाद सामाज को आलाकमान ने ठेंगा दिखाते हुए ताम्रध्वज साहू को किनारे लगा दिया। प्रदीप साहू ने कहा कि कांग्रेस आलाकामन और मुख्यमंत्री भूपेश ने साहू सामाज को हमेशा ठगा है और अपने फायदे के लिए हमेशा साहू सामाज का उपयोग किया है। इस अपमान के लिए साहू सामाज कांग्रेस पार्टी को कभी माफ नहीं करेगा।

Next Story
Share it