Top
Action India

प्रदेश कांग्रेस ने तृणमूल पर लगाया आपदा में भी नग्न राजनीति का आरोप

कोलकाता। एएनएन (Action News Network)

कांग्रेस की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने तृणमूल कांग्रेस पर कोरोना महामारी के समय भी नग्न राजनीति करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि सीएम के दावे और राज्य में उसकी वास्तविकता में जमीन और आसमान का अंतर है।मित्रा दावा किया है कि सत्तारूढ़ पार्टी के नेता गरीबों के लिए आवंटित राशन को लूट रहे हैं। बुधवार दोपहर सोमेन ने एक बयान जारी किया है। इसमें उन्होंने लिखा है कि नरेंद्र मोदी सरकार ने गरीब लोगों के लिए एक लाख करोड़ रुपये का आर्थिक पैकेज घोषित किया है।

लेकिन बंगाल के गरीबों को क्या मिल रहा है? गत 21 मार्च को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि राज्य सरकार की ओर से चावल और गेहूं बिना मूल्य सितंबर महीने तक राज्य वासियों को दिया जाएगा। ऐसे में सवाल है कि बंगाल के लोगों के लिए आवंटित खाद्य सामग्रियां कहां जा रही हैं? विभिन्न जिलों से इस तरह की शिकायतें आ रही हैं कि राशन डीलर पर्याप्त मात्रा में चावल गेहूं नहीं दे रहे हैं।

राशन डीलर कह रहे हैं कि उन्हें पर्याप्त कोटा भी नहीं दिया जा रहा। हुगली, बर्दवान, नदिया, हावड़ा, उत्तर और दक्षिण 24 परगना जिले के गरीब लोग राशन के लिए बार-बार शिकायतें कर रहे हैं।सोमेन मित्रा ने कहा है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी रोज टीवी पर आकर भाषण दे रही हैं लेकिन वास्तविकता के साथ उनके दावे कतई मिल नहीं रहे हैं। कहीं तृणमूल के छोटे बड़े नेता आकर राशन डीलरों से सारा राशन लेकर अपने पार्टी के लोगों के बीच बांट दे रहे हैं। ऐसे में क्या कोरोना महामारी जैसे संकट के समय भी लूटने की राजनीति चलेगी?

पुलिस पर लगाया करोना 'पास' में पक्षपात का आरोप

सोमेन मित्रा ने राज्य पुलिस पर कोरोना 'पास' बनाने में भी पक्षपात करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि सत्तारूढ़ पार्टी के लोग राज्यभर में तांडव कर रहे हैं लेकिन पुलिस किसी को नहीं रोक रही। जबकि प्रदेश कांग्रेस ने सेवा कार्यो के लिए पास बनाने का आवेदन किया था तो पुलिस ने रद्द कर दिया। कारण बताया गया है कि उसमें पर्याप्त जानकारी नहीं दी गई थी। कांग्रेस के स्वयंसेवकों ने लोगों तक पहुंचने के लिए पास बनाने हेतु आवेदन किया था लेकिन उसे भी रद्द कर दिया गया। जबकि दूसरी तरफ तृणमूल के नेता, कार्यकर्ता अबाध तरीके से पास लेकर घूम रहे हैं। विश्वास नहीं हो रहा है कि इस महामारी के संकट में भी बंगाल में नग्न राजनीति हो रही है।

Next Story
Share it