Top
Action India

कोरोना संक्रमित युवकों के संपर्क में आए 13 लोगों के सैंपल भेजे गये जांच में : डीएम

कोरोना संक्रमित युवकों के संपर्क में आए 13 लोगों के सैंपल भेजे गये जांच में : डीएम
X

बेगूसराय। एएनएन (Action News Network)

बेगूसराय जिले में दो व्यक्तियों के कोरोना वायरस (कोविड-19) से संक्रमित होने के बाद प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया है। बुधवार को डीएम अरविन्द कुमार वर्मा एवं एसपी अवकाश कुमार ने सदर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण किया तथा भर्ती लोगों के स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी ली। इसके बाद स्वास्थ्य कर्मियों से विशेष जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए । निरीक्षण के बाद डीएम अरविन्द कुमार वर्मा ने कहा है कि दो युवकों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने से लोगों को आतंकित होने की जरूरत नहीं है।

जिला प्रशासन कन्फर्म केस के मामले में स्वास्थ्य विभाग के सभी प्रोटोकॉल का पालन कर रहा है। पीड़ित व्यक्ति से संबंधित तीन किलोमीटर के क्षेत्र को पूरी तरह से सील कर एक्टिव सर्विलांस पर ले आया गया है तथा पांच किलोमीटर का सेनिटाइजेशन किया जा रहा है। पहले ही दोनों व्यक्तियों के सैंपल जांच के लिए पटना भेजे गये थे, जिनकी जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। पीड़ित व्यक्ति से डायरेक्ट संपर्क में आए 13 व्यक्तियों के सैंपल जांच के लिए पटना भेजे जा रहे हैंं। संपर्क में आने वाले शेष लोगों की ट्रेसिंग की जा रही है।

जिले में अब तक बाहर से आए 13015 व्यक्तियों को चिन्हित कर क्वारेन्टाइन में रहने का निर्देश दिया गया है। 7205 व्यक्तियों ने क्वारेन्टाइन अवधि पूरी कर ली है। चक्षु एप के माध्यम से 11246 व्यक्तियों का अनुश्रवण किया जा रहा है। 63 लोगों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है जिसमें 15 व्यक्ति सदर अस्पताल, 11 अग्रसेन मातृ सेवा सदन तथा 37 रामधारी सिंह दिनकर इंजीनियरिंग कॉलेज में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं। जिला मुख्यालय में संचालित आपदा राहत केंद्र में 1754 व्यक्तियों को भोजन तथा 315 व्यक्तियों को अवासन उपलब्ध कराया गया है।

बाहर रह रहे जिले के 159 व्यक्तियों की मदद प्रवासी मजदूर सहायता कोष के माध्यम से की गई है। डीएम ने कहा है कि हाल के दिनों में बिहार के बाहर से आए लोग स्वयं अपनेे संबंध में संबंधित एसडीओ, बीडीओ और प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को जानकारी दें, ताकि सैंपल कलेक्ट कर जांच के लिए भेजा जा सके। आम नागरिक , लॉकडाउन क्वारेन्टाइन में रह रहे लोग सभी प्रोटोकॉल तथा निर्धारित शर्तों का पालन करें। कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बरकरार है, इसलिए लापरवाही नहीं बरती जानी चाहिए। बैंक, बाजार एवं अन्य दैनिक कार्यों में भी सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन अति आवश्यक है।

Next Story
Share it