Top
Action India

मॉडिफाइड लॉकडाउन का मतलब घूमने फिरने की आजादी नहीं : डीएम

मॉडिफाइड लॉकडाउन का मतलब घूमने फिरने की आजादी नहीं : डीएम
X

  • अतिआवश्यक कार्य होने पर ही घर से बाहर निकलें,डीएम तथा एसपी ने किया बाजार में पैदल मार्च

धौलपुर । एएनएन (Action News Network)

प्रदेश समेत जिले में मॉडिफाइड लॉक डाउन के पहले ही दिन डीएम आरके जायसवाल तथा एसपी मृदुल कच्छावा ने धौलपुर के प्रमुख बाजारों में पैदल मार्च किया। इस दैरान सोशल डिस्टेनसिंग की पालना नहीं करने वाले दुकानदारों की दुकानें बंद करवायी गई तथा वेबजह बिना मास्क घूमते हुए लोगों को गिरफ्तार करने की कार्यवाही की गई। पैदल मार्च के दौरान इस जगन तिराहा स्थित लखनलाल अग्रवाल की दुकान को सोशल डिस्टेनसिंग का उल्लंघन के चलते बन्द करवाया गया।

वहीं, प्रधान डाकघर पर अधिक भीड़ होने के कारण तुरंत प्रभाव से वहां भी लेन देन बंद करवा दिया गया। इसके साथ साथ जगदीश तिराहा स्थित राहुल क्वालिटी सेंटर तथा स्टेशन रोड स्थित जैन मेडिकल हॉल पर कार्यवाही करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं करने के कारण दो दिन के लिए सीज करने के निर्देश दिए।

जिला कलेक्टर राकेश कुमार जायसवाल ने बताया कि सरकार द्वारा 20 अपै्रल से मोडिफाइड लॉक डाउन घोषित किया गया है। लेकिन मॉडिफाइड लॉकडाउन का यह बिल्कुल भी मतलब नहीं है कि लोग बिना वजह बाहर घूमें। उन्होने सभी जिला वासियों से अपील की है कि केवल अतिआवश्यक कार्य होने पर ही घरों से बाहर निकलें। जिला कलक्टर ने बताया कि धौलपुर जिले के लिए राहत की बात यह है कि यहां वर्तमान में कोई भी व्यक्ति कोरोना वायरस संक्रमित नहीं हैं, किन्तु जिले के पड़ौसी भरतपुर, आगरा में कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की बढती संख्या को ध्यान में रखते हुए हमें एहतियात बरतने की आवश्यकता है।

पुलिस अधीक्षक मृदुल कच्छावा ने कहा कि इस माहामारी से बचने का एक मात्र उपाय यही है कि हम घरों में रहकर सरकार के नियमों की पालना करें। लॉकडाउन के चलते सभी एकजुट होकर सरकार द्वारा जारी एडवायजरी का पालन करें तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करे तथा अनावश्यक रूप से बाहर न निकलें।

Next Story
Share it