Action India
अन्य राज्य

संक्रमित मरीज मिलने के बावजूद भी लोगों में नहीं दिख रहा कोरोना का खौफ

संक्रमित मरीज मिलने के बावजूद भी लोगों में नहीं दिख रहा कोरोना का खौफ
X

धमतरी । एएनएन (Action News Network)

प्रशासन ने गुड़ाखू पर प्रतिबंध लगा रखा है। लेकिन इसके बाद भी इसकी खुलेआम बिक्री हो रही है। शहर में गुड़ाखू बेंच रहे एक विक्रेता के पास गुड़ाखू खरीदने लंबी लाइन लगी रही। यहां लाॅकडाउन के तहत बनाए गए शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं हो रहा। लोग कहीं भी भीड़ लगाकर खड़े हो रहे हैं। सुबह से ही लोग गुड़ाखू खरीदने लाईन में लगे रहे।

सिहावा चौक के पास गुड़ाखू की थोक दुकान है। यहां व्यापारी सुबह से गुड़ाखू खरीदने के लिए कतार में एक-दूसरे से चिपके खड़े थे। संक्रमण रोकने के लिए जरूरी तीन फीट की दूरी तो दूर तीन इंच का अंतर भी इन लोगों में नहीं था। शहर में भी कोरोना के दो केस मिलने के बाद भी यहां लाॅकडाउन के नियम का पालन नहीं हो रहा। यह दुकान कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के इलाके से मात्र एक किलोमीटर दूर है। यहां सुबह आठ बजे से गुड़ाखू खरीदने करीब 100 मीटर लंबी कतार लगी थी। कोरोना के लिए शारीरिक दूरी को ही एक मात्र उपाय डब्ल्यूएचओ ने बताया है। इसके लिए कम से कम तीन फीट दूरी जरूरी है।

यहां कुछ लोगों के बीच तो तीन इंच का भी अंतर नहीं था। अधिकतर लोग चिपके हुए थे। कुछ तो बगैर मास्क के थे। इन्हें कोई रोकने वाला नहीं था, न ही यह खुद ही कोरोना के खतरे को भांप पा रहे थे। दुकान पर लगी भीड़ व शारीरिक दूरी नहीं होने की सूचना मंगलवार को दी गई थी तो जिला पंचायत सीईओ नम्रता गांधी ने तुरंत टीम भेजी थी। आज फिर उसी तरह की स्‍थ‍िति में लोग यहां गुड़ाखू खरीद रहे हैं। गुड़ाखू दुकान के साथ ही किराना दुकानों पर भी लोगों की भीड़ दिख रही है। बाजार आम दिनों की तरह खुला रहा है। लोग भीड़ बनाकर दुकानों पर खड़े हो रहे हैं।

Next Story
Share it