Action India
अन्य राज्य

बस्तर संभाग में कोरोना संक्रमण की व्यवस्था नाकाफी : भाजपा

बस्तर संभाग में कोरोना संक्रमण की व्यवस्था नाकाफी : भाजपा
X

जगदलपुर । एएनएन (Action News Network)

विश्वव्यापी कोरोना संक्रमण महामारी ने अब बस्तर संभाग में फैलाने लगा है। बस्तर संभाग के विभिन्न जिलों में उक्त महामारी से निपटने के लिए जो शासन अथवा प्रशासन द्वारा किये गये उपाय लिए नाकाफी लग रहा है। बस्तर संभाग के मुख्यालय जिला बस्तर के अतिरिक्त किसी अन्य जिले में स्वास्थ्यगत परीक्षण की उचित व्यवस्था नहीं है। संभाग के जिलों में स्थापित एकांतवास केन्‍द्रों (क्वारंटाइन सेंटर ) में रखे गए श्रमिकों अथवा अन्य प्रदेशों से आए लोगों का समुचित रूप से परीक्षण नहीं कराया जा रहा हैं। भाजपा के प्रदेश महामंत्री डॉ. सुभाउ कश्यप, प्रदेशमंत्री किरण देव एवं श्रीनिवास राव मद्दी ने रव‍िवार को बस्तर कमिश्नर के नाम एक ज्ञापन सौंपाकर व्यवस्था पर सवाल उठाया गया है।

भाजपा के ज्ञापन में संभाग मुख्यालय जगदलपुर के महारानी अस्पताल में तीन पैथोलॉजिस्ट है जबकि अन्य जिले पैथोलॉजिस्ट की कमी से जूझ रहे हैं। स्थापित किये गए एकांतवास केन्‍द्र की व्यवस्था सरपंच सचिवों के माध्यम से की जा रही है जो कि 14वें वित्त की राशि से उनके भोजन आदि की व्यवस्था कर रहे हैं। शासन व प्रशासन को पृथक से राशि मद की व्यवस्था करनी चाहिए । कुछ एकांतवास केन्‍द्र में श्रमिकों की संख्या 300 से 400 तक रहती है, जिसके कारण इस महामारी के फैलने का भय बना हुआ है।

बस्तर से लगे उड़ीसा, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, महाराष्ट्रसे हजारों की संख्या में श्रमिकों का आना हुआ है। जिनका चेक पोस्ट बॉर्डर से आना हुआ उन्हें ही परीक्षण व एकांतवास केन्‍द्र में लाया गया, लेकिन वन मार्ग व ग्रामीण क्षेत्रों से भी आवाजाही हो रही है। जिसकी अनदेखी नहीं की जा सकती है। प्रत्येक जिला मुख्यालय में पर्याप्त कोरोना स्वास्थ्य संक्रमण परीक्षण की टीम द्वारा परीक्षण की व्यवस्था व आवश्यक उपकरण की भी कमी है। भारतीय जनता पार्टी ने प्रत्येक जिले में और विकासखंडों में तीन-तीन सदस्यों की प्रवासी श्रमिक समन्वय समिति के सदस्य नियुक्त किए हैं। उनसे प्राप्त जानकारी उन प्रवासों के माध्यम से प्राप्त हुए हैं जो चिंताएं आपके समक्ष प्रस्तुत है। आप इन सभी विषयों को संज्ञान में लेकर इनका निराकरण करें।

Next Story
Share it