Top
Action India

हिमाचल में 85 तब्लीगी जमातियों पर एफआईआर, अब तक हुई 277 की पहचान

  • एक दिन में 44 जमातियों पर हुई एफआईआर

शिमला। एएनएन (Action News Network)

हिमाचल प्रदेश में निजामुद्दीन से लौटे आधा दर्जन तब्लीगी जमातियों के कोरोना संक्रमित होने के बाद शासन-प्रशासन की सख्ती बढ़ती जा रही है। तब्लीगी जमातियों के कई जिलों में छुपकर रहने के आरोप में पुलिस ने रविवार को बड़ी कार्रवाई की है। पुलिस ने एक दिन में 44 जमातियों के विरूद्व मुकदमा दर्ज किया है।

अब तक सात जिलों में कुल 85 जमातियों के खिलाफ मामले दर्ज किए जा चुके हैं। ये सभी तबलीगी जमात से आने के बाद छुप कर रह रहे थे और इन्होंने प्रशासन को अपने आने की सूचना नहीं दी। सोलन जिले के औद्योगिक क्षेत्र बद्दी में सर्वाधिक 45 जमातियों के विरूद्व एफआईआर दर्ज की गईं। उना में 14, शिमला में 11, मंडी में 7, बिलासपुर में 5, सिरमौर में 2 और कांगड़ा में एक जमात के विरूद्व एफआईआर हुई है।

अब तक पुलिस बाहरी राज्यों से आने वाले 277 तब्लीगी जमातियों का पता लगाकर क्वारंटीन में डाल चुकी है। बद्दी में 76, सिरमार में 58, कांगड़ा में 40, उना में 39, शिमला में 23, चंबा में 21 व मंडी में 20 जमातियों का पता लगाया गया है। बीते 24 घंटों में 20 नए जमातियों की पुलिस द्वारा पहचान की गई है। इन जमातियों के विरूद्व पुलिस ने डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

पुलिस महानिदेशक सीताराम मरड़ी ने साफ कर दिया है कि अब अगर तब्लीगी जमात के लोग हिमाचल में पकड़े जाते हैं, तो उनके विरूद्व डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के साथ-साथ आईपीसी की धाराओं 307 व 302 में भी एफआईआर कायम की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए लगाए गए कर्फ्यू का उल्लंघन करने के प्रदेश में अब तक 423 एफआईआर दर्ज की गई हैं। वहीं 395 लोग गिरफ्तार हुए हैं। इसके साथ ही 255 वाहनों को जब्त कर 2.36 लाख रुपये जुर्माना वसूला गया है।

Next Story
Share it