Top
Action India

बिना काम घर से निकले तो गाड़ी भी जब्त कर ली जाएगी

बिना काम घर से निकले तो गाड़ी भी जब्त कर ली जाएगी
X

  • मोबाइल पर कोरोना से संभलने की बात के साथ शुरू हुए नवसंवत्सर के शुभकामना संदेश

  • गणगौर पूजन भी घरों में ही करने का संदेश दे रहे समाजों के बुजुर्ग

उदयपुर। एएनएन (Action News Network)

कोरोना से जंग के लिए सरकार ने कमर कस ली है और पुलिस-प्रशासन ने सख्ती बढ़ा दी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के जनता को घर में ही रहने की कठोर अपील का असर मंगलवार को सुबह से ही नजर आने लगा। आवश्यक सेवाओं वालों को भी पुलिस ने रोक कर पूछा और उनका परिचय पत्र देखकर ही जाने दिया।

जिस पर भी यह शंका हुई कि यह महज तफरीह के लिए निकला है, उसे न केवल रोका बल्कि उसकी गाड़ी भी जब्त कर ली गई। पैदल जाने वालों को भी समझाया गया कि यदि किसी आवश्यक कार्य से जा रहे हैं तो ठीक है, वर्ना पुन: घर की ओर रुख कर लीजिये।

इधर, विभिन्न समाजों ने गणगौर की पूजा भी घर-घर में ही करने पर निर्णय करना शुरू कर दिया है। कोरोना वायरस की भयावहता और पूरे देश में चल रहे लॉक डाउन को समाजों के प्रतिनिधियों ने भी गंभीरता से लिया है और बुजुर्गों ने कोरोना वायसर से लडऩे के लिए यही संदेश दिया है कि पूजा घरों में ही की जाय।

दरअसल, गणगौर पूजा चैत्र शुक्ला तृतीया से शुरू होगी जो लॉक डाउन की अवधि में ही आ रही है और उदयपुर की पिछोला झील के गणगौर घाट पर गणगौर पूजन की परम्परा है जहां पूजन के दौरान जबर्दस्त भीड़ हो जाती है। भीड़ से कोरोना वायरस से संक्रमण का खतरा बढ़ता है।
इधर, 25 मार्च को नवसंवत्सर है। चैत्र प्रतिपदा के संदेश चल रहे हैं, लेकिन इसके साथ ही घरों में रहकर कोरोना वायरस से जंग में सरकार का सहयोग करने की बात पहले कही जा रही है। गौरतलब है कि उदयपुर में नवसंवत्सर पर बड़ा आयोजन होता है। सिंधी समाज चेटीचंड भी घरों में ही मनाएगा।

Next Story
Share it