Action India
अन्य राज्य

सीसीआई को किसान नहीं देना चाहते कपास, कागजों के झंझटों से बचना चाहते है किसान

सीसीआई को किसान नहीं देना चाहते कपास, कागजों के झंझटों से बचना चाहते है किसान
X

जींद।

कपास की मंडियों में गिने जाने वाली उचाना मंडी में पहली बार सीसीआई ने कपास की खरीद शुरू की है। 24 अक्टूबर से शुरू की गई खरीद के बाद अब तक 1 क्विंटल की खरीद भी सीसीआई ने नहीं की है। किसान अपनी कपास की फसल को सीसीआई को नहीं बेचना चाहते है। हाइवे पर अतिरिक्त मंडी में सीसीआई के अधिकारी हर रोज आते है लेकिन वहां पर किसान कपास की खरीद के लिए जानकारी लेने आते है लेकिन अब तक एक भी किसान अपनी फसल बेचने नहीं आ रहा है। सीसीआई द्वारा कई कागज खरीद को लेकर मांगे जा रहे है ऐसे में किसान कागजात के झंझटों में नहीं उलझना चाह रहा है।

सीसीआई के अधिकारी विकास सहगल ने बताया कि कपास की खरीद को लेकर अलग-अलग नियम बनाए गए है। 8 से 12 प्रतिशत तक कपास में नमी होनी चाहिए। इसको लेकर अलग-अलग भाव किसान को दिए जाएंगे। 8 प्रतिशत तक की नमी वाले फसल के 5450 रुपए प्रति क्विंटल, 9 प्रतिशत तक नमी वाली कपास के 5395 रुपए 50 पैसे प्रति क्विंटल, 10 प्रतिशत तक नमी वाली के 5341 रुपए प्रति क्विंटल, 11 प्रतिशत तक नमी वाली फसल के 5286 रुपए 50 पैसे प्रति क्विंटल, 12 प्रतिशत तक नमी वाली फसल के 5232 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से किसानों को दिए जाएंगे।

Next Story
Share it