अमरनाथ यात्रा में श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़

अमरनाथ यात्रा में श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़

भारी सुरक्षा के साथ 30जून से शुरू हुई बाबा बर्फानी यानी अमरनाथ यात्रा, अब तक 10 हजार से भी ज्यादा श्रद्धालु बाबा बर्फानी के दर्शन कर चुकें है। भक्त प्रशासन द्वारा किए गए प्रबंधों से काफी खुश नजर आए. अधिकारियों के अनुसार, गुरुवार को तीर्थ यात्रा शुरू होने के बाद से अब तक 11,000 से अधिक यात्रियों ने पवित्र गुफा मंदिर के अंदर दर्शन किए हैं, जबकि 23,000 अन्य लोग घाटी की ओर बढ़ चुके हैं.
इस बार प्रशासन ने अमरनाथ यात्रा के लिए कड़े नियम बनाए हैं. प्रशासन ने इस बार श्रद्धालुओं समेत दुकानदारों के लिए आरएफआईडी टैग (RFID Tag) आवश्यक कर दिया है. इसकी मदद से हर यात्री की लोकेशन को ट्रेक करने में मदद मिलेगी.
इस साल इस गुफा मंदिर की तीर्थयात्रा तीन साल के अंतराल के बाद हुई है. 2019 में यात्रा धारा 370 को निरस्त करने से पहले कम कर दी गई थी, जबकि इसे 2020 और 2021 में कोविड-19 महामारी के कारण निलंबित कर दिया गया था.
इस साल की यात्रा के लिए प्रशासन में कड़े इंतजाम किए है, सुरक्षा बलों की तैनाती से लेकर CCTV कैमरा से भी निगरानी की जा रही है, श्रद्धालुओं के लिए राहत शिविरों का भी इंतजाम किया गया है।

भारी बारिश की वजह से रोकी गई अमरनाथ यात्रा

आपको बता दे जम्मू कश्मीर के पहलगाम में भारी बारिश के कारण अमरनाथ यात्रा पर आज अस्थायी रूप से रोक लगाई गई है, अमरनाथ में खराब मौसम होने के कारण वहाँ मौजूद सभी भक्तों को बाबा अमरनाथ की गुफा और यात्रा के बीच स्तिथ अन्य मंदिरो में जाने से रोका गया है,
यात्रा प्रशासन का कहना है कि मौसम विभाग ने शेषनाग, पहलगाम और चंदनवाड़ी में भारी बारिश की आशंका जताई है, इसी कारण प्रशासन ने यात्रियों की सुरक्षा को मद्देनजर में रखते हुए यात्रा पर रोक लगा दी है,
यात्रा के कारण कुछ श्रद्धालु निराश भी नज़र आये परन्तु वह सब बारिश रुकने का इंतज़ार कर रहे है, क्यों कि प्रशासन का कहना है कि बारिश रुकते ही यात्रा को दुबारा शुरू कर दिया जाएगा और सभी यात्री बाबा बर्फानी के दर्शन कर सकेंगे।

आपको बता दे इस तीर्थयात्रा का समापन 11 अगस्त 2022 को रक्षा बंधन के अवसर पर श्रावण पूर्णिमा को होगा.

उत्तरप्रदेश : हरदोई में शराब के पैसे न देने पर बेटे ने मां को ही मार डाला

Advertisement

Advertisement