Top
Action India

अमृत मिशन के ठेकेदार नगर निगम से मिलीभगत से कर रहे भ्रष्टाचार

अमृत मिशन के ठेकेदार नगर निगम से मिलीभगत से कर रहे भ्रष्टाचार
X

रायगढ़ । एएनएन (Action News Network)

जिला मुख्यालय में इन दिनों तेजी से अमृत मिशन योजना के तहत पाइप लाइन का काम चल रहा है और इस ठेके का काम अलग-अलग ठेकेदार कर रहे हैं। निगम के इस काम में ठेकेदार बड़े आराम से अपनी मनमानी करते हुए करोड़ो रुपये की सड़क को बर्बाद करते हुए नजर आ रहे हैं और नियमों का खुला उल्लंघन कर रहे हैं। पूरे मामले में निगम के अधिकारी जान बुझकर ठेकेदारों को अपना पूरा समर्थन दे रहे हैं।

रायगढ़ नगर निगम के कई इलाकों में तेजी से अमृत मिशन योजना के तहत घर-घर में पानी सप्लाई करने के लिए पाइप लाइन बिछाने का काम चल रहा है और इस काम के पीछे सरकार ने अलग-अलग ठेकेदारों को करोड़ो का काम करने के लिए सौंपा है। मिली जानकारी के अनुसार करीब 6 महीने पहले बनी करोड़ों रुपये की सड़के बदहाल हो चुकी हैं और इनको बेतरतीब से जेसीबी द्वारा खोदकर आम लोगों के लिए दुर्घटना का आमंत्रण दे रहा है। रोज इन खोदे गए गड्ढो में लोग गिरते हैं। इस अमृत मिशन योजना के तहत बिछाई जाने वाली पाइप लाइन में नियमों के तहत गड्ढे खोदकर ही पाइप को बिछाया जाना है और उसके बाद इसे बंद करने के लिए भी रेत के अलावा कांक्रीट का इस्तेमाल करने की शर्त दर्शाई गई है, लेकिन ठेकेदार सड़कों को खोदकर पाइप लाइन बिछा तो रहे हैं, लेकिन पाइप डालने के बाद गड्ढों को उसी मिट्टी से भर रहे हैं।

अधिकारिक सूत्र बताते हैं कि अमृत मिशन योजना के तहत बिछाई जाने वाली पाइप लाइन में निर्धारित मानक पर कोई भी ठेकेदार शहर के बाहर व भीतर इस नियम का पालन नहीं कर रहा है। एक ठेकेदार के कर्मचारी ने हिन्‍दुस्थान समाचार को बताया कि शहर के कार्मेल स्कूल रोड़, लालटंकी मार्ग, कलेक्ट्रेट मार्ग, चक्रधर नगर चौक के अलावा अन्य जगहों में दो ठेकेदार काम कर रहे हैं और जल्दी काम करने के चलते खोदे गए गड्ढो में मिट्टी वापस डाली जा रही है। रेत कुछ ही जगहों में डालने की बात सामने आ रही है। इस कार्य के लिए सतत निगरानी की जरूरत बताई। इस संबंध में आयुक्त राजेन्द्र गुप्ता का कहना था कि लॉकडाऊन के दौरान काम अच्छा चल रहा है और इसलिए कुछ भी कहना बेमानी होगी और कहीं भी गड्ढो के चलते दुर्घटना नहीं घट रही है।

Next Story
Share it