Action India
अन्य राज्य

जान जोखिम में डाल आने-जाने को विवश हैं गंगिया गांव के लोग

जान जोखिम में डाल आने-जाने को विवश हैं गंगिया गांव के लोग
X

दरभंगा । Action India News

पिछले दिनों हुई भारी बारिश के कारण दरभंगा जिले की सभी नदियों का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है। इसके कारण जिले के कई प्रखंडों में बाढ़ का पानी घुस आया है। इससे प्रभावित लोगों का जीना मुश्किल हो गया है। ऐसी हालत मेें कुछ बाढ़ प्रभावित लोगों ने जुगाड़ टेक्नोलॉजी से अपनी जीवन शैली को पटरी पर लाने का प्रयास किया है।

हालांकि इसमें जान का जोखिम भी उठाना पड़ता है, लेकिन जीने की विवशता ऐसी है कि वे जोखिम की परवाह नहीं कर रहे हैंं। कुछ ऐसी ही हालात से रूबरू हैं -गंगिया गांव के बासिन्दे। जीवछ नदी में आये ऊफान से बहादुरपुर प्रखंड की मेकनाबेदा पंचायत अंतर्गत गंगिया गांव में बनी सड़क तकरीबन 30 फीट तक बह गई है।

इसके बाद आवागमन को सुगम करने के लिए स्थानीय ग्रामीणों ने बिजली का खंभा बिछाकर रास्ता बनाया है।स्थानीय लोगों का कहना है कि बीती रात से ही बाढ़ का पानी सड़क के ऊपर से बह रहा है। पानी के तेज बहाव में सड़क टूट गई, जिससे गांव का मुख्य सड़क से संपर्क टूट गया। इस कारण सैकड़ोंं लोग बाढ़ के पानी में घिर गए हैंं।

उन्होंने बताया कि पानी का बहाव इतना तेज था कि इनमें उतर का आना-जाना संभव नहीं रहा जिसके बाद संबंधित मुखिया और ग्रामीणों ने मिलकर सड़क के टूटे हिस्से पर बिजली का खंभा बिछाया। अब लोग उसी पर चल कर आ-जा रहे हैं। मेकनाबेदा पंचायत के मुखिया मो. कलाम कहते हैं कि रात से यहां पानी के बहने की शुरुआत हुई है।

उसके बाद से लगातार जिला प्रशासन से संपर्क में हैं लेकिन अभी तक सरकारी अमला का कहीं कोई अता-पता नहीं है। उन्होंने कहा कि करीब 50 घरोंं में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है। सरकारी स्तर पर अभी तक ना तो पॉलीथिन शीट की व्यवस्था की गई है और ना ही सामुदायिक रसोई की।

फिलहाल हमलोगों ने खुद से बिजली का पोल डालकर आवागमन को चालू तो करवा दिया है लेकिन इस अस्थायी व्यवस्था से काम चलने वाला नहीं है। पानी का बहाव काफी तेज है जिससे लोग काफी भयभीत हैं।

Next Story
Share it