Action India
झारखंड

डीसी ने की स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा

डीसी ने की स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा
X

देवघर । Action India News

उपायुक्त नैंसी सहाय की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों की समीक्षा बैठक का आयोजन समाहरणालय सभागार में आयोजित किया गया। इस दौरान उपायुक्त द्वारा जिले में कोरोना संक्रमण के तहत किये जा रहे कार्यो यथा. संक्रमित मरीज की जाँचए उनका इलाजए आईसोलेशन सेंटर व क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे लोग एवं उन्हें दी जा रही सुविधाए संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आये लोगो की ट्रेसिंग एवं जिले में चल रहे कोरोना से संबंधित स्वास्थ्य जांच के अलावे स्वास्थ्य विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों की वास्तुस्थिति से अवगत हुई।

समीक्षा के क्रम में उपायुक्त ने सिविल सर्जन को निदेशित किया कि जिले में कोरोना जांच की संख्या में तेजी लाएं । साथ ही जांच रिपोर्ट को भी अपडेट रखें। साथ ही वैसे व्यक्ति जी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आये हों उनको चिन्हित करते हूए सभी व्यक्तियों के जांच हेतु और अधिक टीम का गठन किया जाय ताकि जल्द से जल्द कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आये व्यक्तियों की जांच की जा सके।

वर्तमान में कोरोना के बढ़ती संख्या को देखते हुए उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को किसी भी विकट परिस्थिति से निपटने हेतु रैपिड रिएक्शन स्वास्थ्य टीम का गठन करने का निदेश दिया। इसके अलावा बैठक के दौरान उपायुक्त ने सिविल सर्जन डाॅ0 विजय कुमार को निदेशित किया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी गाईडलाईन के अनुरूप कोविड केयर हॉस्पिटल में इम्युनिटी बूस्टर से संबंधित सारी सामग्रियों की पर्याप्त व्यवस्था रखें।

सबसे महत्वपूर्ण वर्तमान में जिले में स्वास्थ्य टीम का गठन कर रैंडम जांच किया जाय। ताकि समय रहते जिले में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। वहीं बैठक के दौरान उपायुक्त ने सभी प्रखण्डों के प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी के माध्यम से कोविड-19 से संबंधित व्यापक प्रचार-प्रसार कर लोगों से अपील किया जाय, उनके द्वारा कोरोना संक्रमण से संबंधित किसी भी प्रकार के लक्षण दिखे तो उसे छुपाएँ नहीं बल्कि उसका समुचित इलाज कराएं।

समीक्षा बैठक के क्रम में उपायुक्त नैंन्सी सहाय ने सभी प्रखण्डों के प्रखण्ड चिकित्सा पदाधिकारी को निदेशित किया कि उनके क्षेत्र से संबंधित क्वारंटाइन सेंटर में साफ.सफाई के साथ पेयजल की समुचित व्यवस्था, शौचालय के साथ ही सभी मूलभूत व्यवस्थाओं के अलावा पौस्टिक भोजन आदि की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित रखें एवं किसी भी परिस्थिति में क्वारंटाइन सेंटर से लोग बाहर निकलकर इधर-उधर न घूमें।

इसके अलावा अगर किसी भी प्रखंड में कोरोना संक्रमण के मरीज मिलते हैं। तो घबराने की जरूरत नहीं है। बल्कि वे इस बात का संकेत है कि आप अपने क्षेत्र में बेहतर कार्य कर रहे हैं। हम सभी का सामूहिक प्रयास होना चाहिए के जिलावासियों को जिला स्तर से लेकर प्रखण्ड स्तर तक बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया करायी जा सके ।

बैठक के दौरान उपायुक्त ने जानकारी दी कि दिनांक 10 से 20 अगस्त तक व्यापक स्तर पर फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम किया जाना है। ऐसे में शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी कार्यक्रम का व्यापक प्रचार-प्रसार करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इसका लाभ प्राप्त कर सकें।

इसके अलावा फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम का कार्य योजना निर्धारित समय पर पूर्ण करते हुए इस कार्य मे आंगनबाड़ी सेविका एवं सहायिका का भी सहायता ली जाय। समीक्षा के क्रम में उपायुक्त ने मलेरिया चिकित्सा पदाधिकारी को निदेशित किया कि डेंगू, चिकनगुनिया के रोकथाम हेतु घर.घर जांच शुरू की जाय।

ताकि इसके प्रभाव व फैलाव को रोका जा सके। साथ हीं फैमिली प्लानिंग पखवाड़ा, इटिग्रेटेड डायरिया कंट्रोल प्रोग्राम, एम०डी०ए० कार्यक्रम, ए०एन०सी०, टीकाकरण के अलावे स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों की समीक्षा कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक व उचित दिशा.निर्देश दिया।

बैठक में सिविल सर्जन डॉ. विजय कुमार, सभी प्रखंड के प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी, मलेरिया पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी एवं संबंधित विभाग के अधिकारी आदि उपस्थित थे।

Next Story
Share it