Top
Action India

गोखनेई नदी में बहे ग्रामीण का तीन दिन बाद मिला शव

गोखनेई नदी में बहे ग्रामीण का तीन दिन बाद मिला शव
X

सूरजपुर । Action India News

तेज बहाव पानी में अपनी जान की बाजी लगाकर एक पूर्व जनपद सदस्य ने गोखनेई नदी में बह गए अधेड़ के शव को निकाल लिया है। जनपद सदस्य के इस प्रयास व हिम्मत की गांव के लोग काफी सराहना कर रहे है।

ओड़गी ब्लॉक के गोखनेई नदी में मंगलवार को 55 वर्षीय राम सुंदर पंडो उस समय नदी की तेज धार में बह गया था, जब वह जंगल से लकडी लेकर वापस घर लौट रहा था। रामपुर के खड़वाड़ी पारा के पास यह घटना हुई थी। बुधवार को पूरे दिन रामसुंदर का कहीं पता नहीं चला, जबकि बाढ़ बचाओ दल व गोताखोर दिन भर नदी की खाक छानते रहे। रात होने पर रेस्क्यू अभियान को रोक दिया गया था।

गुरुवार सुबह कुछ लोग नदी में घटना से करीब तीन किमी दूर शव को बहता देख सूचना पूर्व जनपद सदस्य राजेश तिवारी को दी। मौके पर पहुंचे राजेश ने मानवता के मद्देनजर नदी की तेज धार के बावजूद नदी में छलांग लगा दी और शव को एक कपड़े से बांध कर किनारे खींच लाए और शव परिजनों के हवाले कर दिया, साथ ही शव म‍िलने की सूचना पुल‍िस को भी दे दी गई है।

उनके इस प्रयास की आसपास के लोग काफी सराहना कर रहे है। वहीं इस मामले पर पूर्व जनपद सदस्य राजेश तिवारी ने बताया कि अगर तुरन्त यह निर्णय नहीं लिया जाता तो फिर शव का मिलना नामुमकिन था।

उन्होंने बताया कि जहां नदी में कुछ ही दूरी पर खाई थी, वहीं फिर रेड नदी से मिल जाने के कारण नदी का रूप विशाल हो जाता है। ऐसे में अगर पुलिस व बचाओ दल का इंतजार करते तो फिर शव नहीं मिल पाता।

Next Story
Share it