Top
Action India

जामिया ने 7वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया, दैनिक ऑनलाइन योग सत्र जल्द ही

जामिया ने 7वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया, दैनिक ऑनलाइन योग सत्र जल्द ही
X

नई दिल्ली। एक्शन इंडिया न्यूज़

जामिया मिल्लिया इस्लामिया ने "योग करें, घर पर रहें" के इस वर्ष की थीम के साथ सोमवार को 7वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस समारोह आयोजित किया। मुख्य कार्यक्रम का आयोजन विश्वविद्यालय के खेल-कूद एवं क्रीड़ा कार्यालय द्वारा किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत विश्वविद्यालय के आठ छात्रों की ग्राउंड पर शारीरिक उपस्थिति में 30 मिनट के योग सत्र के साथ हुई, जिसमें सभी सामान्य योग प्रोटोकॉल (सीवाईपी) और कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन किया गया। योग गुरु सुशांत जैन ने छात्रों को विभिन्न योग आसन करने और अभ्यास करने के लिए निर्देशित किया।

विश्वविद्यालय के एनएमएके पटौदी खेल परिसर की हरी-भरी घास पर चल रहे योग आसन के लाइव सत्र में विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. नजमा अख्तर, शिक्षकों, गैर-शिक्षण कर्मचारियों और छात्रों ने ऑनलाइन भाग लिया। योग सत्र के बाद विश्वविद्यालय की कुलपति और वरिष्ठ संकाय सदस्यों द्वारा विचार-विमर्श सत्र का आयोजन किया गया, जिसमें योग के विभिन्न लाभ पर चर्चा की गई। प्रशिक्षण सत्र के तहत निगरानी में योग का अभ्यास करने का महत्व, योग अभ्यास का धर्म से अलगाव, दिन के किसी भी समय योग की सरल युक्तियों का पालन करना इत्यादि पर चर्चा गई।

कुलपति ने अपने संबोधन में इस बात पर जोर दिया कि योग पहले से ही दुनिया भर में लोकप्रिय है, लेकिन लोगों ने कोविड-19 महामारी के दौरान इसकी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की शक्ति को अधिक महसूस किया है। उन्होंने घोषणा की कि शीघ्र ही विश्वविद्यालय में दैनिक आधार पर ऑनलाइन योग सत्र आयोजित किए जाएंगे।

वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर अपने विचार साझा करने वाले संकाय सदस्यों में प्रो. महताब आलम, डीएसडब्ल्यू; प्रो. एजाज मसीह, डीन शिक्षा संकाय; प्रोफेसर सीमा फरहत बसीर, डीन प्राकृतिक विज्ञान संकाय; प्रो. संजय सिंह, डीन दंत चिकित्सा संकाय; प्रो. उशविंदर कौर, पोपली, सामाजिक कार्य विभाग; प्रो. अर्चना दस्सी, अध्यक्ष, समाज कार्य विभाग; प्रो. सिमी मल्होत्रा, अध्यक्ष अंग्रेजी विभाग; प्रो. जय प्रकाश नारायण, अध्यक्ष संस्कृत विभाग; प्रो. इक्तिदार मोहम्मद खान, मानद. समन्वयक, एनसीसी, जामिया; और प्रो. वसीम ए खान, चीफ प्रॉक्टर, जामिया शामिल थे।


Next Story
Share it