Action India
अन्य राज्य

एसएसपी प्रयागराज का तबादला निरस्त करने की मांग

एसएसपी प्रयागराज का तबादला निरस्त करने की मांग
X

प्रयागराज । एएनएन (Action News Network)

प्रयागराज के तेज तर्रार ईमानदार आईपीएस ऑफिसर सत्यार्थी पंकज का ट्रांसफर होने से जिले की जनता परेशान है। अपनी अच्छी कार्यप्रणाली की वजह से पूरे प्रदेश में वह हर छोटी समस्या को गंभीरता से लेते हुए पीड़ित को तत्काल न्याय दिलाना, वहीं अवैध कारोबार करने वाले माफियाओं पर कार्रवाई कर अंकुश लगाने में बड़ी सफलता हासिल की। ऐसी स्थिति में उनका स्थानांतरण निरस्त करने के लिए कई लोगों ने आवाज उठायी है।

एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने आईपीएस अफसर सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज को तत्काल दुबारा एसएसपी प्रयागराज बनाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि श्री पंकज द्वारा 69 हजार शिक्षक भर्ती में अच्छा काम करने के बाद भी जांच एसटीएफ को देना, फिर उन्हें अचानक बिना कारण हटा प्रतीक्षारत करना बताता है कि यूपी सरकार इस मामले में बेईमानी व लीपापोती कर रही है।

आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने एक ट्वीट कर कहा कि पिछले दिनों जब वे प्रयागराज गए थे तो कई लोगों ने 69 हजार शिक्षक भर्ती में उनके कार्यों की प्रशंसा की थी। उनके प्रतीक्षारत होने से कई लोग दुखी एवं चिंतित दिख रहे हैं, जो उनकी वास्तविक उपलब्धि है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने भी प्रयागराज के एसएसपी के तबादले पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि जब भाजपा के करीबियों की गर्दन मामले में फंसने लगी तो यह कदम उठाया। इससे साफ है कि भाजपा सरकार पूरी तरह भ्रष्ट है। कोरोना तो एक बहाना है।

इविवि की पूर्व अध्यक्ष ऋचा सिंह ने कहा कि 69 हजार शिक्षक भर्ती में प्रयागराज के जिस वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने शिक्षक भर्ती में भ्रष्टाचार का भंडाफोड़ किया, भ्रष्टाचार के सरकारी सरगनाओं को हिरासत में लिया, उसके पहले जांच से हटाना और फिर मध्य रात्रि में पदमुक्त कर सरकार ने अपनी भ्रष्ट नियत का खुलासा कर दिया।

महिला अधिकार संगठन की अध्यक्ष मंजू पाठक, शिल्पा सिंह व शानू जौहर ने कहा कि एसएसपी प्रयागराज का तबादला किसी सोची-समझी साजिश का नतीजा है। उन्होंने शहर के लिए काफी अच्छे कार्य किये, अपराधी अपराध करने से डरता था। महिलाएं बिना किसी भय के बाहर निकलती थी, उन्हें लगता था कि उनकी रक्षा करने के लिए प्रयागराज पुलिस तत्पर है। इसी प्रकार शहर के नागरिकों में भी जोरों से चर्चा है कि आखिर एसएसपी प्रयागराज को क्यों हटाया गया?

Next Story
Share it