Top
Action India

बीटीसी परिषद के कार्यकाल को छह माह बढ़ाने की मांग

बाक्सा । एएनएन (Action News Network)

कोरोना वायरस के चलते बोड़ोलैंड टेरिटोरियल काउंसिल (बीटीसी) का चुनाव ऐन मौके पर रद्द कर दिया गया। अप्रैल माह के अंत तक बीटीसी परिषद का कार्यकाल समाप्त हो जाएगा। ऐसे में संवैधानिक संकट उत्पन्न होने की संभावना उत्पन्न हो गई है। ऐसे में बीटीसी परिषद में राज्यपाल शासन को लागू किया जा सकता है। वहीं बीटीसी की सत्ताधारी पार्टी बीपीएफ के नेता सरकार के बीटीसी परिषद का कार्यकाल छह माह के लिए बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। इस कड़ी में शुक्रवार को चापागुरी के विधायक थानेश्वर बसुमतारी ने परिषद के कार्यकाल को छह माह तक बढ़ाने की मांग की है।

उन्होंने ये बातें बाक्सा जिला के मुसलपुर में मीडिया के साथ बातचीत करते हुए कही। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस एक प्राकृतिक महामारी है। इसको देखते हुए ही चुनाव आयुक्त ने चुनाव को स्थगित किया है। ऐसे में 27 अप्रैल को बीटीसी परिषद का कार्यकाल समाप्त हो जाएगा। ऐसे में बीटीसी में प्रशासन के कार्यकाल को सामान्य बनाए रखने के लिए परिषद के कार्यकाल को छह माह के लिए बढ़ाया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि यह किसी राजनीतिक कारण से नहीं बल्कि प्राकृतिक महामारी के कारण करना आवश्यक है। यह संवैधानिक रूप से भी सही है। वहीं विपक्षी पार्टियों का कहना है कि बिना चुने हुए प्रतिनिधि कैसे प्रशासन को संचालित करेंगे। इसलिए परिषद का कामकाज राज्यपाल के निर्देश पर जारी रखना चाहिए। कुल मिलाकर बीटीसी परिषद को लेकर सत्ता पक्ष व विपक्ष के बीच जमकर बयानबाजी जारी है।

Next Story
Share it