Action India
अन्य राज्य

भोजपुर में रोहिणी नक्षत्र की समाप्ति के पूर्व हुई भारी वर्षा से खेतों में धान बुआई का रास्ता साफ

भोजपुर में रोहिणी नक्षत्र की समाप्ति के पूर्व हुई भारी वर्षा से खेतों में धान बुआई का रास्ता साफ
X

आरा । एएनएन (Action News Network)

भोजपुर जिले में रोहिणी नक्षत्र खत्म होने के तीन दिन पहले हुई मूसलाधार बारिश ने किसानों के चेहरे पर खुशी ला दी है। अपेक्षा से अधिक वर्षा के जल होने से किसान धान के बिचड़ा लगाने को ले खेतो की तरफ निकल गए हैं। खेतो में किसान बीजारोपण से लेकर नर्सरी लगाने के काम मे युद्ध स्तर पर जुट गए हैं। किसान बताते है कि भारी बारिश के बाद अब धान की एमपीयू 7029,बीपीटी 5204,राजेन्द्र मंसूरी और राजश्री का बीज डालने को ले होड़ लगी हुई है। आठ जून को रोहिणी नक्षत्र खत्म हो रहा है और जिले के किसान इससे पहले धान के बिचड़े नर्सरी तैयार कर डाल देने को उत्साहित हैं।

खेतो में चारों तरफ किसानों की भीड़ उमड़ी हुई है। किसान बताते हैं कि करीब पांच साल बाद रोहिणी नक्षत्र खत्म होने के पहले भारी बारिश हुई है और धान के बिचड़े डालने को ले पर्याप्त या आवश्यकता से अधिक पानी किसानों को मिल चुका है। रोहिणी नक्षत्र के खत्म होने के ठीक पहले हुई बारिश से मकई और अरहर की फसलों को भी भारी लाभ होगा। किसान बताते हैं कि रोहिणी नक्षत्र में बर्षा होने से हरी खाद भी समय से तैयार हो जाएगी।

वैसे किसान अधिक लाभान्वित होंगे जिन्होंने हरी खाद तैयार करने के लिए खेतो में ढेंचा और मूंग की खेती की है। किसानों का यह भी कहना है कि समय से सरकारी स्तर पर ढेंचा का बीज उपलब्ध नही कराया गया और मूंग मई के अंत मे उपलब्ध कराया गया जिससे जिले के किसान बड़े पैमाने पर हरा चारा तैयार करने से वंचित रह गए हैं। उधर मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले में सबसे अधिक जगदीशपुर में 115.6 मि.मी और सबसे कम सन्देश में 24.4 मि.मी वर्षा हुई है।

Next Story
Share it