Top
Action India

गाजियाबाद में दो दिवसीय धर्म संसद रविवार से, देश-विदेश के संत लेंगे हिस्सा

गाजियाबाद में दो दिवसीय धर्म संसद रविवार से, देश-विदेश के संत लेंगे हिस्सा
X

गजियाबाद। एएनएन (Action News Network)

रविवार से शुरू होने वाली दो दिवसीय धर्म-संसद में भाग लेने के लिए देश और विदेश से संतों का जमावड़ा यहां शुरू हो चुका है। धर्म संसद का आयोजन सांस्कृतिक गौरव संस्थान व राष्ट़ीय सैनिक मोर्चा के तत्वावधान में 12-13 जनवरी को गोविंदपुरम स्थित प्रीतम फार्म हाउस में होने जा रहा है। खास बात यह है कि धर्म संसद में साधू संतों के अलावा देश के पूर्व सैनिक भी भाग ले रहे हैं। यह पहला मौका है जब साधू-संत और सैनिक एक मंच पर आकर देश के युवाओं को भारतीय संस्कृति और देश भक्ति का पाठ पढ़ाएंगे।

राष्ट़ीय सैनिक मोर्चा के अध्यक्ष कर्नल तेजेंद्र पाल त्यागी ने शनिवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि धर्म संसद की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। धर्म संसद में भारतीय संस्कृति के मूल्यों और विभिन्न भारतीय भावनाओं के बारे में हमारे संत आज की युवा पीढ़ी को टिप्स देंगे। जो वे अब भूल चुके हैं। जिस तेजी के साथ पश्चिमी सभ्यता को अपनाकर युवा पीढ़ी पथभ्रष्ट हो रही है उन्हें बताया जाएगा कि भारतीय परंम्परा और अध्यात्मिक सिद्धांतों पर चलकर ही जीवन को सफल बनाया जा सकता है।

इसी क्रम में जगतगुरू शंकराचार्य नरेंद्रनाथ सरस्वतीजी महाराज ने कहा कि गाजियाबाद शहर में सैनिक और संत एक साथ एकत्र होकर देश की एकता और अखंडता के नारे को बुलंद कर रहे हैं। यह कार्यक्रम एतिहासिक होगा क्योंकि पहली बार संतों के साथ देश के सैनिक भी खड़े हो गए हैं।
शिव शक्ति धाम डासना के महंत यति नरसिंहा नंद सरस्वती ने कहा कि इस आयोजन में देश के कोने कोने से संत शामिल हो रहे हैं।

उन्होंने बताया कि हिमाचल के दिव्यांग संत योगी ज्ञाननाथ ने यहां आकर एक लाख रूपये इस पूर आयोजन को सफल बनाने के लिए दान दिए हैं। उन्होंने बताया कि धर्म संसद सुबह दस बजे से शुरू होगी और देर शाम तक कई पालियों में चलेगी और अगले दिन सोमवार को धर्म संसद का समापन होगा।

Next Story
Share it