Action India
अन्य राज्य

आपातकालीन रोगियों का ही उपचार करेंगे जिला प्रशासन एवं प्राइवेट चिकित्सकों के बीच बनी सहमति

आपातकालीन रोगियों का ही उपचार करेंगे जिला प्रशासन एवं प्राइवेट चिकित्सकों के बीच बनी सहमति
X

कासगंज । एएनएन (Action News Network)

लोक डाउन फाइव के लागू होते ही सरकार ने जारी किए नए दिशा निर्देशों के मुताबिक जनपद के प्राइवेट चिकित्सक कार्य करें इसके लिए जिलाधिकारी ने मंगलवार की दोपहर समस्त प्राइवेट चिकित्सकों के साथ आपसी सहमति तैयार की है। तय हुआ कि सभी चिकित्सक आपातकालीन स्थिति के ही रोगियों को उपचार देंगे। इसके अतिरिक्त जिन रोगियों के उपचार पूर्व से ही जारी है। वह विधिवत रूप से जारी रहेंगा। कोरोना की आपात स्थिति होने पर संबंधित चिकित्सक एवं उनके स्टाफ के लोग घर में ही अज्ञातवास कराए जाएंगे।

जिलाधिकारी कार्यालय पर संपन्न हुई चिकित्सकों की बैठक में जिलाधकारी सीपी सिंह, अपर जिलाधिकारी एके श्रीवास्तव एवं सीएम डॉ. प्रतिमा श्रीवास्तव मौजूद रहे। उपस्थित चिकित्सकों को लाॅक डाऊन 5 की गाइडलाइन के बारे में जिलाधिकारी ने जानकारी से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि आगामी एक माह काफी संकट का साबित होने वाला हैं। इसके लिए प्राइवेट चिकित्सकों का सहयोग अपेक्षित है। इन दिनों में सावधान रहने की आवश्यकता है। शहर के अस्थि रोग विशेषज्ञ चिकित्सक अखिलेश गौड ने अपने कुछ सुझाव रखे।

उन्होंने बताया कि जिला चिकित्सालय में कोरोना के अतिरिक्त किसी अन्य रोगियों को उपचार नहीं मिल पा रहा है। फलस्वरूप रोगी प्राइवेट चिकित्सक के यहां दौड़ रहे हैं। ऐसे में मानवीय दृष्टिकोण के आधार पर रोगियों को उपचार ना देना चिकित्सकों के पेशे के विपरीत है। इसके लिए जिला चिकित्सालय में भी अन्य रोगियों की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए। जिससे प्राइवेट चिकित्सक के यहां रोगियों की भीड़ ना रहे।

उन्होंने कहा कि विषम परिस्थितियों में जब चिकित्सक या उनके स्टाफ के लोग कोरोना ग्रसित हो जाएं तब ऐसी स्थिति में उन्हें अज्ञातवास के लिए क्या सुविधाएं जिला प्रशासन की ओर से प्रदान की जाएगी। इस पर सीएमओ डॉ प्रतिमा श्रीवास्तव में बताया कि चिकित्सक या फिर उनका स्टाफ घर में ही अज्ञातवास मे जा सकता है। उपस्थित चिकित्सकों में डॉ एचजे लायल, डाॅ प्रवीण अग्रवाल, डॉ नवीन गॉड, डॉ नरेश चंद्र गुप्ता, डॉ मोहित जैन मुख्य रूप से मौजूद रहे।

Next Story
Share it