Top
Action India

कोरोना के खिलाफ शुरू से ही अकर्मण्‍य व लापरवाह रही भूपेश सरकार : डॉ. रमन

कोरोना के खिलाफ शुरू से ही अकर्मण्‍य व लापरवाह रही भूपेश सरकार : डॉ. रमन
X

रायपुर । एएनएन (Action News Network)

भाजपा उपाध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन स‍िंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ दिए सीएम भूपेश बघेल के बयान को उथला, हल्का, बेतुका और महज़ डींगें हाँकने वाला बताया है। उन्होंने कहा कि बघेल न तो रत्ती भर राजनीतिक मर्यादा का पालन कर रहे और न ही परिस्थियों के अनुरूप परिपक्वता का परिचय दे रहे हैं।

शुक्रवार को मीडिया को जारी अपने बयान में डाॅ. सिंह ने कहा कि सच तो यह है कि पीएम श्री मोदी को इस असाधारण परिस्थिति से निपटने में उनके विजन के लिए सारी दुनिया से तारीफ़ मिल रही है, वहां प्रदेश में इससे निपटने के मामले में सीएम बघेल पूरी तरह विफल साबित हुए हैं। उन्होंने प्रदेश में सात नए मरीजों का पता चलने का जिक्र करते हुए कहा कि काफी पीड़ा की बात है कि एम्स के कुशल और निष्ठावान चिकित्सकों और चिकित्साकर्मियों की दिन-रात की मेहनत से हम छत्तीसगढ़ में इस महामारी के खिलाफ जीत के करीब पहुँच गए थे।

लेकिन प्रदेश शासन की अकर्मण्यता, प्रशासनिक विफलता और स्तरहीन राजनीति के कारण इन सारी मेहनतों पर फिलहाल पानी फिरता दिख रहा है।डाॅ. रमन ने कहा कि यह समय एकजुट होकर इस असाधारण परिस्थिति से निपटने की कोशिश का था जबकि इसके उलट सीएम बघेल को आज भी राजनीति करने से ही फ़ुरसत नहीं है। उन्होंने कहा कि विश्व ने आजतक ऐसे संकट का सामना कभी नहीं किया था। एक विजन और दूरदर्शिता के साथ जिस तरह मोदी जी की सरकार ने लगातार क़दम उठाए हैं, विश्व स्वास्थ्य संगठन तक लगातार उसकी तारीफ़ कर रहा है।

डाॅ. रमन ने कांग्रेस को मतिभ्रम का शिकार दल बताते हुए कहा कि वस्तुतः इसे पता ही नहीं कि आख़िर करना क्या है? पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी बयान देती हैं कि लॉकडाउन जल्दबाज़ी में किया गया, पूर्व अध्यक्ष पुत्र राहुल गांधी कहते हैं कि काफ़ी पहले यह किया जाना चाहिये था। ऐसे में अपना मूल कार्य छोड़कर सीएम अपने राष्ट्रीय नेतृत्व के विरोधाभासी बयानों में संतुलन क़ायम करने में ही जुटे रहते हैं।

रमन सिंह ने बाहरी तबलीगियों को रोक पाने में विफलता के लिए आड़े हाथों लेते हुए बघेल की भर्त्सना की। उन्होंने कहा कि आज कोरोना के खिलाफ अगर हम मुस्तैदी से जुटे हैं तो सिर्फ इसलिए क्योंकि अटल जी और सुषमा जी ने हमें एम्स जैसा अस्पताल दिया। इस अस्पताल के अलावा प्रदेश शासन ने एक बिस्तर तक की कोई व्यवस्था किसी जगह कोरोन मरीजों के लिए नहीं किया है। एम्स द्वारा मांगे जाने पर हर सहायता उपलब्ध कराई जा रही है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री लगातार हमें यह भरोसा दिला रहे हैं कि अस्पताल को किसी चीज़ की कमी नहीं होने दी जायेगी। इस संकट के समय सबसे ज्यादा अभाव पीपीई किट का दुनिया भर में है जबकि छत्तीसगढ़ को कल ही दो हज़ार किट्स उपलब्ध कराये गए हैं। डाॅ. सिंह ने कहा कि कोरोना के खिलाफ शुरू से ही लापरवाह रही है कांग्रेस सरकार. अगर ऐसा नहीं होता तो उन्हें तब्लीगियों के प्रदेश में पहुँचने पर नज़र रखनी थी।

Next Story
Share it