Action India

पृथ्वी पर हरियाली कम होना स्वास्थ्य और खुशहाली लिए खतरा: वर्मा

पृथ्वी पर हरियाली कम होना स्वास्थ्य और खुशहाली लिए खतरा: वर्मा
X

  • पर्यावरण सन्देश यात्रा-2020 के जगन्नाथ पुरी पहुंचने पर हुई पर्यावरण संरक्षण गोष्ठी

पुरी । एएनएन (Action News Network)

पृथ्वी पर हरियाली कम होने का मतलब है मनुष्य सहित जीव जन्तुओं की सांसें कम होना जो स्वास्थ्य और खुशहाली लिए खतरा है।आंखें फाउन्डेशन के निदेशक हरिप्रसाद वर्मा ने रविवार को पर्यावरण सन्देश यात्रा-2020 के जगन्नाथ पुरी पहुंचने पर नगर के एक होटल में पुरोहित श्रीकृष्ण तिवारी की अध्यक्षता और वीरेन्द्र वर्मा नेवली के संचालन में आयोजित पर्यावरण संरक्षण गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए यह बातें कही।

वर्मा ने अपने सम्बोधन में यह भी कहा कि हरियाली कम होते रहने से पृथ्वी पर जीवन तथा स्वयं पृथ्वी के जीवन को संकट बढ़ता जा रहा है। इसलिए हम सबको पृथ्वी पर हरियाली बढ़ाने के लिए पौध रोपण कर जल, जंगल और जमीन का संरक्षण करना चाहिए।

पुरी के समाजसेवी हरिहर साहू द्वारा आयोजित पर्यावरण संरक्षण गोष्ठी में यात्री दल के सदस्य बृजेश सोनी व राम बिलास अटवा ने भी अपने विचार व्यक्त किये। इस गोष्ठी में जगन्नाथ पुरी दर्शन करने आये दो दर्जन से अधिक लोग के साथ शशि धरन, सोमिल पात्रा, विजय साहू प्रमुख रूप से शामिल रहे।

Next Story
Share it