Action India
शिक्षा

पीएम मोदी करेंगे 'परीक्षा पे चर्चा', शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने की रजिस्ट्रेशन कराने की अपील, जानें पूरी डिटेल

पीएम मोदी करेंगे परीक्षा पे चर्चा, शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने की रजिस्ट्रेशन कराने की अपील, जानें पूरी डिटेल
X

नई दिल्ली एक्शन इंडिया न्यूज़

केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने बृहस्पतिवार को छात्रों, शिक्षकों एवं अभिभावकों को इस वर्ष आयोजित होने वाले 'परीक्षा पे चर्चा' के पांचवें संस्करण में हिस्सा लेने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) से संवाद करने का अवसर प्राप्त करने के लिये पंजीकरण कराने के लिये आमंत्रित किया है. बता दें कि इसके लिए 20 जनवरी तक पंजीकरण कराया जा सकता है.

प्रधान ने पंजीकरण का लिंक साझा करते हुए ट्वीट किया, '' परीक्षा के तनाव को परास्त करने, कैरियर एवं जीवन में आगे बढ़ने के बहुमूल्य मंत्र एवं काफी कुछ. यहां आपको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से सीधे मार्गदर्शन प्राप्त करने का मौका मिलेगा. छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों को परीक्षा पे चर्चा 2022 में हिस्सा लेने के लिये आमंत्रित कर रहा हूं.''

वहीं, शिक्षा मंत्रालय ने हाल ही में ट्वीट में कहा था, '' परीक्षा पे चर्चा फरवरी 2022 में आयोजित की जाएगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ संवाद एवं इस कार्यक्रम में भागीदारी के लिए पंजीकरण कराएं.'' गौरतलब है कि स्कूल एवं कालेज के छात्रों के साथ प्रधानमंत्री के संवाद कार्यक्रम परीक्षा पे चर्चा का पहला संस्करण 16 फरवरी 2018 में तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित किया गया था.

मंत्रालय के अनुसार, इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए छात्र, शिक्षक एवं अभिभावक माईजीओवी वेबसाइट पर 'परीक्षा पे चर्चा 2022' खंड में पंजीकरण करा सकते हैं. इस पर प्रतियोगिता के आधार पर 2050 छात्र, शिक्षक एवं अभिभावकों का चयन किया जाएगा और इन्हें 'परीक्षा पे चर्चा' किट भी भेंट की जाएगी. इसमें नौवीं से 12वीं कक्षा तक के छात्र हिस्सा ले सकते हैं और अधिकतम 500 शब्दों में प्रश्न दर्ज करा सकते हैं.

'परीक्षा पे चर्चा' प्रतियोगिता के संबंध में छात्रों के लिए कुछ विषय तय किए गए हैं जिनमें कोविड-19 के दौरान परीक्षा तनाव प्रबंधन रणनीति, अपने गांव एवं शहर का इतिहास, आत्मनिर्भर भारत के लिए आत्मनिर्भर स्कूल, स्वच्छ भारत हरित भारत, पर्यावरण संरक्षण जैसे विषय शामिल हैं. शिक्षकों के वास्ते विषयों में नए भारत के लिए 'नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति', 'कोविड महामारी: अवसर एवं चुनौतियां' शामिल हैं. वहीं, अभिभावकों के लिए 'बेटी पढ़ाओ देश बढ़ाओ', 'लोकल से ग्लोबल: वोकल फॉर लोकल' तथा 'जीवन पर्यांत छात्र' जैसे विषय रखे गए हैं.

Next Story
Share it