Top
Action India

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन में जुटा शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास: अतुल कोठारी

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन में जुटा शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास: अतुल कोठारी
X

नई दिल्ली । एक्शन इंडिया न्यूज़

शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के राष्ट्रीय सचिव अतुल कोठारी ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के क्रियान्वयन और आत्मनिर्भर भारत के लिए न्यास समग्रता से प्रयास आरंभ कर चुका है। उन्होंने वर्चुअल माध्यम से आयोजित प्रांत संयोजक की राष्ट्रीय बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षा में परिवर्तन का दौर आरंभ हो चुका है।

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति से शिक्षा में परिवर्तन के द्वारा समाज में परिवर्तन होगा और इसी से राष्ट्र निर्माण होगा। आत्मनिर्भर भारत के लिए हमें समग्रता से आगे बढ़ना होगा। अब हम निश्चित समय के अनुसार कार्यक्रम बनाकर राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन और आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार कर सकते हैं।

उन्होंने बताया कि शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति को लागू करने के लिए राष्ट्रीय एवं प्रत्येक प्रांत में क्रियान्वयन समितियों का गठन आरंभ कर दिया है। राष्ट्रीय स्तर की समिति का गठन विख्यात वैज्ञानिक डॉ. विजय भटकर की अध्यक्षता में किया गया है। राष्ट्रीय सचिव ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान में भी शैक्षिक संस्थाओं की भूमिका महत्वपूर्ण है। आत्मनिर्भर भारत अभियान में छात्रों को जोड़ने के लिए न्यास प्रयासरत है। देश को आत्मनिर्भर बनाना है तो छात्रों को भी आत्मनिर्भर बनाना होगा।

उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत अभियान कोरोना काल में अवसर की तरह हमारे समक्ष आया है। विद्यालयों, महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों को आत्मनिर्भर भारत अभियान का नेतृत्व करना चाहिए और समाज के प्रत्येक वर्ग को इसमें जोड़कर उनके उत्थान के लिए कार्य करना शुरू करना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के प्रयास से 75 से अधिक शैक्षिक संस्थाओं ने यह कार्य शुरू कर दिया है।

प्रांत संयोजक बैठक में प्रो. नीलिमा गुप्ता कुलपति कानपुर, प्रो.एचके शर्मा डायरेक्टर एन.आई.टी. अगरतला, प्रो. अमि उपाध्याय कुलपति गुजरात, प्रो.प्रदीप जैन डायरेक्टर एनआईटी पटना, प्रो. एचडी चारण कुलपति बीकानेर, प्रो.राजकुमार मित्तल कुलपति चौधरी बंसी लाल विश्वविद्यालय भिवानी, प्रो. तेजस्वी काटीमणि सेंट्रल विश्वविद्यालय आंध्र प्रदेश, प्रो.अब्दुल सलाम पूर्व कुलपति कालीकट, प्रो. कपिल देव मिश्र कुलपति रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर, प्रो.नवीन भाई सेठ कुलपति गुजरात प्रो.विनय कपूर कुलपति विधि विश्वविद्यालय सोनीपत, डॉ.प्रकाश बरतुनिया कुलाधिपति लखनऊ, प्रो.अजय तिवारी कुलाधिपति स्वामी विवेकानंद विश्वविद्यालय सागर, प्रो. अनुपम शुक्ला डायरेकटर आईआईआईटी पुणे, प्रो. रविंद्र कन्हारे भोपाल, मेजर हर्ष कुमार सचिव एनसीईआरटी उपस्थित थे।

Next Story
Share it