Top
Action India

एटलस साइकिल में ले ऑफ घोषित, प्रबन्धकों ने फैक्टरी चलाने से खड़े किए हाथ

एटलस साइकिल में ले ऑफ घोषित, प्रबन्धकों ने फैक्टरी चलाने से खड़े किए हाथ
X

  • हजारों श्रमिकों के सामने खड़ा हुआ रोजी -रोटी का संकट

गाजियाबाद । एएनएन (Action News Network)

कोविड -19 (कोरोना वायरस )के चलते घोषित लॉकडाउन का प्रभाव अब इंडस्ट्रीज पर दिखने लगा है। इसी क्रम में गाजियाबाद के साहिबाबाद औद्योगिक क्षेत्र स्थित देश की जानी मानी एटलस कंपनी के प्रबंधकों ने आर्थिक तंगी के चलते फैक्टरी का संचालन करने में हाथ खड़े कर दिए हैं। उन्होंने बुधवार से ले -ऑफ घोषित कर दिया है।

फैक्टरी प्रबन्धकों के इस कदम से हजारों कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है तथा उनके सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। फैक्टरी के प्रबंधक ने इस संबंध में श्रम आयुक्त अन्य संबंधित अधिकारियों को इस संबंध में पत्र लिखकर सूचित कर दिया है। पत्र में लिखा गया है कि एटलस साइकिल हरियाणा (लिमिटेड) पिछले कई वर्षों से आर्थिक तंगी से जूझ रही है। फैक्टरी ने अपने पास उपलब्ध सभी फंड खर्च कर दिए हैं और अब आय का कोई स्रोत नहीं बचा है।

स्थिति यह हो गई है कि दैनिक खर्च के लिए भी धन उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। इस स्थिति में सेवा योजक जब तक धन एकत्रित नहीं कर लेते तब तक कच्चा माल खरीदने में असमर्थ हैं जब तक बैठकी (ले ऑफ़) घोषित किया जाता है। पत्र में कहा गया है कि फक्ट्री का सभी स्टाफ प्रत्येक दिन अवकाश को छोड़कर गेट पर हाजिरी लगाएगा ताकि उन्हें इसका लाभ मिल सके। पत्र में कहा गया है कि सुबह 9:00 बजे असेंबली, हॉर्टिकल्चर, 10:00 बजे एडमिन ब्लॉक पीपीसी ब्लॉक, 11:00 बजे स्टोर, इंस्पेक्शन, 12:00 बजे टूल रूम डिजाइन एवं ट्रांसपोर्ट से जुड़े स्टाफ को हाजिरी लगानी होगी । पत्र की प्रतिलिपि उप श्रम आयुक्त गाजियाबाद समेत अन्य तमाम संबंधित विभागों को को भेजी गई है ।

Next Story
Share it