Action India

छूट मिलते ही दुकानदारों के यहां तथा बाजारों में लगा ग्राहकों का मेला

छूट मिलते ही दुकानदारों के यहां तथा बाजारों में लगा ग्राहकों का मेला
X

रतलाम । एएनएन (Action News Network)

बिना लॉकडाउन किए लोगों को कोरोना से बचाना असंभव है, इसलिए सरकार तालाबंदी का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दे रही है। लम्बे समय के लिए किराना सामान खरीदने के लिए लोगों को 22 एवं 23 अप्रैल को दी गई छूट का परिणाम यह हुआ कि बाजार में मेला सा लग गया। गुरुवार को शहर के माणकचौक, धानमंडी और अन्य व्यापारिक क्षेत्र में इस कदर लोगों की भीड़ लग गई, जैसे कोई मेला लग गया हो।

दरअसल, कई दिनों से लोगों को तालाबंदी का सामना करना पड़ रहा है। उसका ही परिणाम है कि जैसे ही प्रशासन ने लम्बी छूट दी तो परिणाम यह सामने आया। इन क्षेत्रों में स्थिति हो गई कि दुकानदारों को बढ़ती भीड़ के कारण अपनी दुकाने बंद करना पड़ी। प्रशासन ने किराना व्यापारियों को चेतावनी दी कि यदि वह सामाजिक दूरी का पालन नहीं करेंगे तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। किराना व्यापारी ग्राहकों को लगातार समझाईश देते रहे लेकिन ग्राहकों की भीड़ सामाजिक दूरी का पालन न करते हुए लगातार दुकानदारों पर सामान देने के लिए दबाव बनाती रही।

दुकानदारों की मुश्किल, सुरक्षा का प्रबंध नहीं

किसी भी दुकान पर पुलिस प्रशासन द्वारा पुलिस जवानों की नियुक्ति नहीं की गई, जबकि भीड़ को नियंत्रित करने के लिए तथा सामाजिक दूरी बनाने के लिए प्रशासन के जवान तैनात किए जाना थे। शहर में अनेक स्वयंसेवी संगठन है, जो अपनी सेवाएं देना चाहते है, लेकिन उनका उपयोग नहीं किया जा रहा है।

संघ और अन्य सामाजिक संगठन ग्राम और शहर में दे रहे है सेवाएं

मुख्यमंत्री ने भी राष्ट्रीय सेवा योजना सहित अन्य कई संस्थाओं के वालेटियर की सेवाएं लेने के निर्देश प्रशासन को दिए हुए हैं, लेकिन कहीं वालेंटियर नजर नहीं आ रहे हैं। ग्रामीण इलाकों में जरूर राष्ट्रीय सेवक संघ, जन अभियान परिषद, ग्राम विकास समितियों के कार्यकर्ता अपनी इच्छा से काम पर डटे हुए हैं, जहां वे नि:शुल्क मास्क वितरित कर रहे हैं, वहीं पलायन कर गए मजदूरों के लौटने पर उनके भोजन की व्यवस्था भी कर रहे है। शहरी क्षेत्र में भी स्वयं सेवक लोगों को भोजन के पैकेट वितरित कर रहे है और यही काम ग्रामीण इलाकों में भी उनके द्वारा संचालित हो रहा है।

माणकचौक क्षेत्र में भीड़ उमड़ी

जिन थाना क्षेत्रों में किराना व्यापारियों को दुकानें खोलने की छूट दी गई थी, उनमें गुरुवार को सबसे अधिक माणकचौक थाना क्षेत्र में भीड़ नजर आई। आज माणकचौक के साथ ही दीनदयाल थाना क्षेत्र के व्यापारियों को सुबह 11 से शाम पांच बजे किराना दुकान खोलने की छूट दी थी।

रमजान के कारण ग्राहकी में तेजी बाजार में मेले जैसी भीड़ का कारण यह बताया गया कि मुस्लिम धर्मावलंबियों का रमजान का माह शुरू हो गया है। इसलिए उन्हीं की ग्राहकी ज्यादा थी और उन्ही की भीड़ भी नजर आ रही थी।

वायरस के साथ और चालानी कार्रवाई का भी भय

प्रशासन के किसी भी अधिकारी ने किसी दुकानदार से शायद यह नहीं पूछां कि आपने बीच में दुकानें क्यों बंद कर दी। दुकानदारों को यह भय कि वह तथा उसके सहायक कही कोरोना संक्रमण के शिकार न हो जाए और कही प्रशासन सामाजिक दूरी न बनाने के कारण उनकी दुकान को सील न कर दे। व्यापारियों को दोनों तरफ से परेशानी। ऐसे में कई व्यापारियों ने इस प्रतिनिधि से कहा कि प्रशासन को स्पष्ट नीति बनाना चाहिए।

Next Story
Share it