हरियाणा

हिसार : जिंदल माइनर में से अलग रजवाहा ना देने की मांग पर एसई से मिले किसान

हिसार: नलवा क्षेत्र के चार गांवों के किसानों ने बुधवार को हिसार में सिंचाई विभाग के एसई से मुलाकात की. चार गांवों नलवा, बालावास, कंवारी व मुजाहदपुर के सैकड़ों किसाानों ने मांग की कि ओपी जिंदल माइनर में से गांव उमरा व सुल्तानपुर के लिए अलग से रजवाहा या खाल ना दिया जाए.

सामाजिक कार्यकर्ता और गांव नलवा के किसान प्रद्युमन जोशीला नलवा ने बताया कि ओपी जिंदल माइनर का निर्माण गांव नलवा, बालावास, कंवारी गांवों की बारानी जमीन को सिंचित करने के लिए किया गया था. वर्षों बीत जाने के बाद भी नलवा गांव की टेल पर पानी नहीं पहुंच पाया. इस क्षेत्र के किसान खून के आंसू रो रहे हैं. अब उमरा व सुल्तानपुर गांव को एक नया खाल देने की बात कही जा रही है.

उन्होंने बताया कि नया खाल बन जाने से नलवा, बालावास, कंवारी की जमीन पूरी तरह से बारानी हो जाएगी. उन्होंने बताया कि किसानों ने खाल ना देने की मांग के अलावा यह भी कहा कि कंवारी, बालावास व मुजाहदपुर के खेतों में 600 रूपए घंटे के हिसाब से बरमा लगाकर खेतों तक पानी पंहुचता है, जिससे किसानों को बड़ा आर्थिक नुकसान उठाना पड़ता है. इसके अलावा किसानों ने बेलदारों व पटवारी द्वारा भी सही काम ना किए जाने की शिकायत भी की.

इस मौके पर किसानों ने पानी की आपूर्ति कम होने को लेकर रोष जताया. एसई से बात करते हुए गांव नलवा, बालावास, कंवारी, मुजादपुर के किसानों ने कहा कि उनके एरिया में ओपी जिंदल माइनर है, उसमें से सुल्तानपुर व उमरा को अलग से रजवाहा दिया जा रहा है, जिसका इन गांवों के किसानों में रोष है.

इस अवसर पर प्रद्युमन जोशीला नलवा, सतबीर दुहन नलवा, राजेंद्र दुहन नलवा, राजपाल खीचड़, पूर्व सरपंच लीलूराम, सज्जन पूनियां, बहादुर सिंह, शुशील कौशिक सरपंच नलवा, कमल कौशिक, पूर्व सरपंच दान सिंह, भलेराम, मेवा सिंह बालावास, सुरेन्द्र बुडानिया, भागचंद बुडानिया, राजकुमार बालावास, बीबीसी सदस्य सुभाष बालावास, सुबे सिंह नंबरदार, मनोज ढांडा, कुलबीर दुहन, कुलबीर श्योराण, कर्म सिंह कंवारी, डॉ. धर्म सिंह, वजीर श्योराण सहित नलवा, बालावास, कंवारी, मुजाहदपुर गांवों के सैंकड़ों किसान मौजूद रहे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button