Select Page

अमेरिका में मंदी की आशंका से लुढ़का ग्लोबल मार्केट, एशियाई बाजारों में भी कमजोरी

अमेरिका में मंदी की आशंका से लुढ़का ग्लोबल मार्केट, एशियाई बाजारों में भी कमजोरी

नई दिल्ली । एक्शन इंडिया न्यूज

अमेरिका में मंदी की आशंका से न केवल अमेरिकी बाजार, बल्कि दुनियाभर के ज्यादातर बाजारों में डर का माहौल बना हुआ है। पिछले कारोबारी सत्र में अमेरिकी बाजार में जबरदस्त गिरावट का रुख बना रहा। मंदी के डर के कारण नैस्डेक 3 प्रतिशत से भी अधिक लुढ़क गया। अमेरिकी बाजार में मंदी का डर यूरोपीय बाजारों में भी नजर आया। एफटीएसई इंडेक्स को छोड़कर यहां के शेष दोनों इंडेक्स पिछले कारोबारी सत्र में 3 प्रतिशत से अधिक की गिरावट के साथ बंद हुए। वहीं एशियाई बाजारों में भी आज गिरावट का रुख बना हुआ है।

पिछले कारोबारी सत्र में नैस्डेक 360.36 अंक यानी 3.23 प्रतिशत की कमजोरी के साथ 10,810.53 अंक के स्तर पर बंद हुआ। इसी तरह एसएंडपी 500 इंडेक्स ने 99.57 अंक यानी 2.49 प्रतिशत की कमजोरी के साथ 3,895.75 अंक के स्तर पर पिछले सत्र के कारोबार का अंत किया। वही डाओ जोंस 764.13 अंक यानी 2.25 प्रतिशत टूटकर 33,202.22 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

अमेरिकी मार्केट के सभी 11 सेक्टर पिछले कारोबारी सत्र के दौरान गिरावट के साथ बंद हुए। दिनभर के कारोबार के दौरान यूएस मार्केट के 73 प्रतिशत शेयर कमजोरी के साथ लाल निशान में बंद हुए। जानकारों का कहना है कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी किए जाने से ज्यादा असर उसकी ओर से 2023 में भी ब्याज दरों में बढ़ोतरी करते रहने का संकेत देने से हुआ है। निराशा के इस माहौल को अमेरिका में रिटेल बिक्री के आंकड़ों ने और बढ़ा दिया है। पिछले 11 महीने के दौरान अमेरिका में रिटेल बिक्री में सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। इसी तरह मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में भी 0.6 प्रतिशत की गिरावट के आंकड़े सामने आए हैं। इन आंकड़ों की वजह से अमेरिका में मंदी का डर बन गया है।

पिछले कारोबारी सत्र में आईटी सेक्टर को जबरदस्त झटका लगा। पूरे सत्र के कारोबार के बाद आईबीएम 5 प्रतिशत, एप्पल 4.59 प्रतिशत और इंटेल 3.86 प्रतिशत की गिरावट के साथ बंद हुए। इसके अलावा वाल्ट डिज्नी के शेयर 3.83 और डाओ इंक के शेयर 3.50 प्रतिशत तक टूट गए। निराशा भरे माहौल के बावजूद पिछले कुछ दिनों से लगातार दबाव का सामना कर रहे टेस्ला के शेयर ने पिछले कारोबारी सत्र में 0.61 प्रतिशत की तेजी दर्ज की। इसी तरह एलाइन टेक्नोलॉजी के शेयर भी 3.10 प्रतिशत की मजबूती के साथ बंद हुए।

यूरोपियन मार्केट में भी पिछले कारोबारी सत्र के दौरान जबरदस्त गिरावट का रुख बना रहा। एफटीएसई इंडेक्स 0.93 प्रतिशत की कमजोरी के साथ 7,426.17 अंक के स्तर पर बंद हुआ। जबकि सीएसी इंडेक्स ने 208.02 अंक यानी 3.09 प्रतिशत की गिरावट के साथ 6,522.77 अंक के स्तर पर पिछले सत्र के कारोबार का अंत किया। इसी तरह डीएएक्स इंडेक्स 473.97 अंक यानी 3.28 प्रतिशत टूट कर 13,986.23 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

अमेरिकी और यूरोपीय बाजार में आई गिरावट का असर एशियाई बाजारों में भी साफ साफ नजर आ रहा है। हैंग सेंग इंडेक्स को छोड़कर एशिया के सभी प्रमुख इंडेक्स फिलहाल गिरावट के साथ लाल निशान में कारोबार कर रहे हैं। एसजीएक्स निफ्टी 0.02 प्रतिशत की कमजोरी के साथ 18,455.50 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहा है। जबकि निक्केई इंडेक्स 487.58 अंक यानी 1.74 प्रतिशत टूटकर 27,564.12 अंक के स्तर पर नजर आ रहा है। इसी तरह स्ट्रेट्स टाइम्स इंडेक्स 0.67 प्रतिशत की गिरावट के साथ 3,251.69 अंक के स्तर पर बना हुआ है।

इन सूचकांकों के अलावा अब तक के कारोबार में ताइवान वेटेड इंडेक्स 177.08 अंक यानी 1.20 प्रतिशत की कमजोरी के साथ 14,557.05 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहा है। इसी तरह कोस्पी इंडेक्स 0.31 प्रतिशत की गिरावट के साथ 2,353.59 अंक के स्तर पर कारोबार करता नजर आ रहा है। इसके अलावा सेट कंपोजिट इंडेक्स 0.12 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1,618.29 अंक के स्तर पर, जकार्ता कंपोजिट इंडेक्स 0.21 प्रतिशत की कमजोरी के साथ 6,737.88 अंक के स्तर पर और शंघाई कंपोजिट इंडेक्स 0.25 अंक टूटकर 3,160.67 अंक के स्तर पर कारोबार करते नजर आ रहे हैं।

हैंग सेंग इंडेक्स ने आज कारोबार की शुरुआत 0.97 प्रतिशत की मजबूती के साथ 19,555.68 अंक के स्तर से की थी, लेकिन बाद में इसमें लगातार गिरावट आती चली गई। फिलहाल ये सूचकांक सपाट स्तर पर 0.36 अंक की मामूली बढ़त के साथ 19,368.95 अंक के स्तर पर कारोबार कर रहा है।

Advertisement

Advertisement