Top
Action India

बिजनौर सहित छह जिलों में बाढ़ की चेतावनी

बिजनौर सहित छह जिलों में बाढ़ की चेतावनी
X

  • रामगंगा बांध कालागढ़ ने गंगा के मार्ग पर आने वाले को लोगों को सुरक्षित मार्ग पर पहुंचाने का निर्देश

बिजनौर । एएनएन (Action News Network)

मानसून वर्ष 2020 में रामगंगा बांध मंडल से बडे़ स्तर पर पानी की निकासी की जाएगी। इसके मद्देनजर अधिक्षण अभियंता ने बिजनौर समेत छह जिलों में बाढ़ की चेतावनी जारी की है। इसके लिए सभी जिलों के प्रशासन से नदी के आसपास अवैध रूप से निवास करने वाले लोगों को हटाने के लिए कहा गया है ताकि किसी भी तरह जान माल की हानि न हो।रामगंगा नदी का उद्गम स्थल हिमालय की शिवालिक पर्वत श्रृंखला जनपद चमोली उत्तरखंड में स्थित है। यह नदी अपने उद्गम स्थल से लगभग 158 किमी की यात्रा पूर्ण करके पौड़ी गढ़वाल जनपद के कालागढ़ के पास मैदानी क्षेत्र में प्रवेश करती है।

कालागढ़ के समीप रामगंगा नदी पर रामगंगा बांध का निर्माण किया गया है। बांध के निर्माण के फलस्वरूप वर्ष 1974 में परियोजना के प्रारम्भ से नदी में आने वाले समस्त पानी को रामगंगा जलाशय में संग्रहीत कर लिया जाता है। वर्षा ऋतु के बाद सिंचाई एवं विद्युत उत्पादन के लिये नियमित मात्रा में ही जल की निकासी की जाती है। लेकिन बांध के आसपास के क्षेत्र में जहां से रामगंगा नदी होकर बहती है, वहां लोगों ने द्वारा नदी के बहाव क्षेत्र में अवैध रूप से खेती एवं आबादी का विस्तार कर लिया है। इसके कारण नदी बहने में अवरोधक पैदा होता है।

वर्ष 2010 में जलाशय के अधिक भरने पर हो चुका है नुकसान

पहली बार वर्ष 1978 के सितम्बर माह व वर्ष 2000 में रामगंगा जलाशय अपनी पूर्ण क्षमता तक भरा जा चुका है। वर्ष 2010 के वर्षा काल के दौरान रामगंगा जलाशय का जल स्तर अधिक बढ़ गया था, जिसको कारण जल संग्रहण क्षेत्र से लगभग दो लाख क्यूसेक जल मैदानी क्षेत्र में छोड़ा गया था और लोेगों को जान माल की हानि झेलनी पड़ी थी। वर्ष 2020 का मानसून शीघ्र ही प्रारम्भ होने को है यह भी सम्भव है कि वर्षा के कारण अपरिहार्य परिस्थितियों में हरेवली बैराज एवं खो बैराज शेरकोट से भी समय- समय पर पानी की निकासी की जाएगी।

ये पांच जिले अलर्ट पर

अधीक्षण अभियंता कालागढ़ ने बिजनौर, मुरादाबाद, अमरोहा, रामपुर, बरेली, शाहजहांपुर और फरुर्खाबाद के डीएम को पत्र जारी कर अलर्ट कर दिया और नदी के मार्ग में रहने वाले जनमानस को सुरक्षित स्थानों पर भेजने के लिए कहा गया है।

Next Story
Share it