Top
Action India

बहरोड़ थाने में फायरिंग कर फरार हुए पपला गुर्जर भी अब जल्द आ सकता पुलिस की गिरफ्त में

बहरोड़ थाने में फायरिंग कर फरार हुए पपला गुर्जर भी अब जल्द आ सकता पुलिस की गिरफ्त में
X

अलवर । Action India News

राजस्थान व हरियाणा के अपराध की दुनिया में अपना लौहा मनवाने वाले पपला गुर्जर पर भी अब जल्दी ही कानूनी शिकंजा कसा जा सकता है। उत्तप्रदेश के कुख्यात बदमाश विकास दुबे के घटनाक्रम के बाद बहरोड़ निवासी पपला गुर्जर भी चर्चा में आ गया है।

पुलिस वालों पर गोलियां बरसाकर अपने साथी को छुड़ाकर फरार हो जाने वाले पपला गुर्जर के कारण राजस्थान पुलिस की भी लंबे समय से किरकरी हो रही है। जिसके बाद से पुलिस महानिदेशक ने भिवाड़ी को नया जिला बनाकर यहां डॉ.अमनदीप सिंह कपूर को तैनात किया था। एसपी के रूप में डॉ. सिंह ने अपराधियों पर लगाम कसने में कोई कमी भी नहीं छोड़ी लेकिन पपला गुर्जर उनके भी काबू में नहीं आया।

डॉ.सिंह का भिवाड़ी से भरतपुर तबादला कर दिया गया। इसके बाद यहां राजस्थान पुलिस के तेज तर्रार एसपी राममूर्ति जोशी को पदस्थापित किया गया है। एसपी जोशी अपराधियों से लौहे लेने में काफी अनुभवी माने जाते है।

शायद इसी लिए राजस्थान सरकार ने जोशी को भिवाड़ी क्षेत्र की कमान सौंपी है। यह क्षेत्र पपला गुर्जर सहित सीमावर्ती क्षेत्र के अनेक बदमाशों का गढ़ है। यहां सख्त पुलिस अधिकारी की भी आवश्यकता महसूस की जाती है। माना जा रहा है कि पुलिस से आंख मिचोली खेल रहे पपला गुर्जर के भी अच्छे दिन खत्म होने वाले है। नए एसपी जोशी पपला गुर्जर को कानूनी शिकंजे में कसने के लिए जल्दी ही किसी रणनीति को अंजाम दे सकते है।

विपक्ष राजस्थान सरकार की पपला गुर्जर को नहीं पकड़ सकने के कारण कई बार आलोचना कर चुका है। हाल ही में विकास दुबे के मामले को लेकर विपक्षी नेता हनुमान बेनीवाल ने राजस्थान की पुलिस ही नहीं सरकार पर भी करारा तंज कसा है।

6 सितंबर, 2019 को बहरोड़ थाने से फरार हुआ था विक्रम उर्फ पपला। लॉकअप में बंद विक्रम उर्फ़ पपला गुर्जर को उसकी गैंग के 2 दर्जन से ज्यादा बदमाश आधुनिक हतीयरो से अंधाधुन्द फायरिंग करके छुड़ा ले गए। जिसके बाद से पुलिस ने कई बदमाशों को गिरफ्तार भी किया लेकिन पपला अब भी गिरफ्त से बाहर है। पपला पर राजस्थान पुलिस ने 1 लाख और हरियाणा पुलिस ने 3 लाख का इनाम घोषित कर रखा है।

घटना के बाद सरकार ने बहरोड़ थाने के 2 पुलिसकर्मियों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया था। जबकि एसएचओ सुगन सिंह और डीएसपी जनेश सिंह तंवर सहित 5 पुलिसकर्मियों को निलंबित किया था। वहीं अन्य सभी 69 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर किया था।

Next Story
Share it