Action India
अन्य राज्य

घसियारा मंडी के लिए खतरे का सबब बना किरोड़ा नाला

घसियारा मंडी के लिए खतरे का सबब बना किरोड़ा नाला
X

टनकपुर । एएनएन (Action News Network)

किरोड़ा नाला घसियारा मंडी क्षेत्र के लिए खतरे का सबब बना हुआ है। लोगों को बरसात में किरोड़ा नाले के पानी की वजह से हर साल दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। तमाम परिवारों को अच्छा खासा नुकसान भी हो जाता है। हल्की सी बारिश में नाला उफान में आ जाता है और पानी कई घरों में घुस जाता है।

गली में कीचड़ हो जाता है। इससे लोगों को आने-जाने में भी खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है। क्षेत्र के लोग लंबे समय से इस समस्या से निजात दिलाने की मांग कर रहे हैं। रविवार की तड़के हुई बारिश से नाला उफान में आ गया। कई घरों में पानी घुस गया। गलियों में कीचड़ हो गया।

दो साल पहले प्रशासन ने किरोड़ा नाले के पानी को रोकने के लिए सीसी ब्लाक बनाए थे, लेकिन वह अब पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए हैं। ऐसे में उनकी गुणवत्ता पर सवाल उठ रहे हैं। बरसात में किरोड़ा नाले पर अधिक पानी होने के चलते उसका रुख बदल जाता है। अत्यधिक बारिश होने पर घसियारा मंडी में बाढ़ जैसे हालात हो जाते हैं।

वार्ड नंबर नौ घसियारा मंडी के सभासद योगेश पांडेय ने बताया कि किरोड़ा नाले के पानी को रोकने के लिए बनाए गए अवरोध क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। किरोड़ा नाले के पानी से नायकगोठ, बोरागोठ, नयागोठ, थ्वालखेड़ा, घसियारा मंडी में भू-कटाव होता है। लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

उन्होंने शासन प्रशासन से घसियारा मंडी व अन्य इलाकों को बाढ़ से बचाने के लिए ठोस कार्य किए जाने की मांग की है। एसडीएम दयानंद सरस्वती ने बताया है कि सिंचाई विभाग को बाढ़ से बचाव के लिए क्षतिग्रस्त अवरोधकों को ठीक करने के निर्देश दिए गए हैं।

जल्द ही उन्हें ठीक कर लिया जाएगा। वहीं सिंचाई विभाग के ईई एससी रावत का कहना है कि किरोड़ा नाले से बाढ़ के खतरे देखते हुए हुए छह करोड़ रुपये की लागत के कार्य किए जाने हैं। इस संबंध के एस्टीमेट डीएम को भेजे गए हैं।

Next Story
Share it