Top
Action India

'गन्स ऑफ बनारस' के प्रमोशन के कलाकार बीकानेर आए, विनोद खन्ना को भी किया याद

गन्स ऑफ बनारस के प्रमोशन के कलाकार बीकानेर आए, विनोद खन्ना को भी किया याद
X

बीकानेर। एएनएन (Action News Network)

बॉलीवुड की हिन्दी फिल्म 'गन्स ऑफ बनारस' के प्रमोशन के लिए हीरो का किरदार निभा रहे करणनाथ, विलेन का रोल प्ले करने वाले दक्षिण फिल्मों के स्टार व हिन्दी फिल्म में डेब्यू करने वाले गणेश वेंकटरमन तथा अभिनेत्री नाथलिया कौर रविवार को बीकानेर में आए।

पत्रकारों से चर्चा करते हुए तीनों कलाकारों ने अपने अनुभव साझा किए। उन्होंने बताया कि अपने किरदार में घूसने के लिए दोनों अभिनेता बनारस में 6 महीनों तक एकदम सस्ते होटल में रुके और शहर की पूरी गहन जानकारी ली। लोगों से आमजीवन कैसे व्यतीत करने को लेकर बातचीत की गयी।

बॉलीवुड के सुपर स्टार रहे विनोद खन्ना को याद करते हुए अभिनेता करण ने कहा कि खन्ना ने उनके पिता का रोल प्ले किया है। उन्होंने कहा कि मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है कि मैंने उनके साथ काम किया। मेरे लिए यह खूबसूरत और इमोशनल एक्सपीरिएंस है। मैं भगवान के प्रति शुक्रगुजार हूं। उनके साथ काम करना एक सपना पूरा होने जैसा है। अब वह हमारे बीच नहीं हैं तो मैं उन्हें काफी मिस कर रहा हूं। अक्सर उनके साथ की गई बातों को याद करता हूं। उन्होंने मुझे जिंदगी के बारे में काफी कुछ सिखाया है। मैं उनका बहुत बड़ा फैन हूं और हमेशा रहूंगा।

अनिल कपूर अभिनीत मिस्टर इंडिया में बाल कलाकार की भूमिका निभाने वाले करणनाथ यह भी बोले कि वर्तमान में सिनेमा दौर जरूर संघर्षों से गुजर रहा है और सोशल मीडिया ने सिनेमाघरों तक आम दर्शक की दूरी को जरूर कम कर दिया है। लेकिन हमारी ये फिल्म दर्शकों को सिनेमाघरों तक खीचने का काम जरुर करेगी।

विलेन का रोल प्ले करने वाले साऊथ स्टार गणेश वेंकटरमन ने कहा कि इससे पहले मैंने टीवी और दक्षिण फिल्म उद्योग में काम किया है। यहां हर अभिनेता का बॉलीवुड में डेब्यू करने का सपना होता है।

अभिनेत्री नाथलिया ने बताया कि उन्हें फिल्म में काम करने के लिए सबसे बड़ी चुनौती हिन्दी सीखने की रही, उनके मातृभाषा पुर्तगाली है जबकि वह एक पंजाबी लड़की बनी है इसलिए बनारस में रहकर लैंग्वेज सीखना पड़ा और लोगों के साथ बातचीत करनी पड़ी। पत्रकार सम्मेलन में फिल्म की निर्माता शाईना नाथ, रवि सोनी, अशोक धारणिया भी मौजूद थे।

Next Story
Share it