Top
Action India

हमीरपुर : गांवों में अब कोरोना ने दी दस्तक, एक और पॉजिटिव मरीज मिला

हमीरपुर : गांवों में अब कोरोना ने दी दस्तक, एक और पॉजिटिव मरीज मिला
X

  • महाराष्ट्र से आये प्रवासियों में एक युवक के सैम्पल की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से गांव में हड़कंप

  • पुलिस, प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी टीम के साथ गांव में डेरा डाला

  • कोरोना पॉजिटिव मरीज के परिजनों और सम्पर्क में आने वाले एक दर्जन लोगों की जांच शुरू

हमीरपुर । एएनएन (Action News Network)

बुन्देलखंड के हमीरपुर जिले के गांवों में अब कोरोना महामारी ने दस्तक दे दी है। शुक्रवार को कोरोना वायरस से संक्रमित एक मरीज के मिलने से पूरे क्षेत्र में दहशत फैल गयी। वहीं प्रशासन में भी हड़कंप मच गया। मामले की सूचना पाते ही प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारी टीम के साथ मौके पर रवाना हो गये हैं।

सुमेरपुर थाना क्षेत्र के सिमनौड़ी गांव के बीस से अधिक लोग महाराष्ट्र में मजदूरी करने गये थे। कोरोना वायरस के तेजी से मामले बढ़ने से सभी लोग महाराष्ट्र से पलायन कर यहां अपने गांव लौटे थे। इनमें एक युवक का सैम्पल सुमेरपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में डॉक्टरों की टीम ने लिया था। इसकी रिपोर्ट आज पॉजिटिव आने पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है। मामले की सूचना प्रशासन को दी गयी है।

एसडीएम सदर राजेश कुमार चौरसिया, सीओ अनुराग सिंह, सीएमओ डॉ. आरके सचान, ए.सीएमओ तथा स्वास्थ्य विभाग की टीमें गांव पहुंचकर कोरोना पॉजिटिव मरीज से पूछताछ शुरू कर दी है। ग्राम के सरपंच अरुण कुमार ने शुक्रवार को बताया को गांव का 21 वर्षीय एक युवक महाराष्ट्र से सात मई को गांव लौटा था। इसके साथ करीब बीस अन्य लोग भी वहां से लौटकर गांव आये है।

सरपंच ने बताया कि इस युवक के घर में माता पिता, बहन और भाई के अलावा अन्य पारिवारिक सदस्य हैं। जिनसे अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं। गांव को सील करने की कार्रवाई शुरू करायी जा रही है। सरपंच ने बताया कि गांव में कोरोना का पॉजिटिव मरीज मिलने से अब आसपास के गांवों में भी दहशत फैल गयी है।

ए.सीएमओ डॉ. रामऔतार ने बताया कि गांव के इस युवक का सैम्पल 11 मई को लेकर कानपुर जांच के लिये भेजा गया था जिसकी रिपोर्ट आज पॉजिटिव आयी है। उन्होंने बताया कि कोरोना पॉजिटिव मरीज को डॉक्टरों की टीम ने अपनी निगरानी में ले लिया है। उसके सम्पर्क में आने वाले लोगों की सूची बनायी जा रही है। इसके घर पर पांच लोग हैं। जिनके सैम्पल लेकर सभी को एकांतवास पर रखा जायेगा। कोरोना पॉजिटिव युवक के सम्पर्क में आने वाले 11 लोग हैं जिनके भी सैम्पल लेकर जांच के लिये भेजे जायेंगे। उन्होंने बताया कि सिमनौड़ी गांव को कंटेनमेंट जोन घोषित करने के लिये पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर कैम्प कर रहे हैं।

आश्रय स्थल से चोरी-छिपे परिजनों से मिलता था कोरोना पाजिटिव मरीज

सिमनौड़ी गांव के सरपंच अरुण कुमार ने बताया कि गांव में कोरोना पॉजिटिव मरीज अपने तमाम साथियों के साथ महाराष्ट्र से सात मई को आया था। इसे आश्रय स्थल पर रखा गया था लेकिन ये चोरी-छिपे अपने परिजनों से लगातार मिलता रहा है। उन्होंने बताया कि गांव में कोरोना पॉजिटिव का केस मिलने के बाद पूरे गांव के लोग दहशत में आ गये हैं।

इससे पहले मुस्करा क्षेत्र के चिल्ली गांव में एक युवक की जांच रिपोर्ट पाजिटिव आयी थी। जिस पर पूरे गांव को जोखिम क्षेत्र घोषित कर सील कर दिया गया था। हालांकि कोरोना पॉजिटिव मरीज की दूसरी रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। गौरतलब है कि बुन्देलखंड के झांसी, जालौन, ललितपुर, महोबा, बांदा, चित्रकूट व हमीरपुर में कोरोना वायरस के छह दर्जन से अधिक मामले आ चुके हैं। महानगरों के बाद अब गांवों में इस महामारी के पांव पसारने से लोगों में चिंतायें बढ़ गयी है।

Next Story
Share it