Top
Action India

खेत पर फांसी पर झूलता मिला मुंह में कपड़ा ठूंसा किसान का शव

खेत पर फांसी पर झूलता मिला मुंह में कपड़ा ठूंसा किसान का शव
X

हत्या और आत्महत्या के बीच उलझी पुलिस जांच में जुटी

झांसी। एएनएन (Action News Network)

थाना टोड़ी फतेहपुर क्षेत्र में एक किसान का शव जंगली बबूल के पेड़ से लटका मिला। परिजन इसे आत्महत्या बता रहे हैं। तो वहीं गांव के लोग इसे संदिग्ध मानते हुए हत्या का आरोप लगाते नजर आए। हालांकि सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वृद्ध माता पिता का रो रोकर बड़ा बुरा हाल है।

ग्राम रजवारा निवासी 40 वर्षीय किसान देवेन्द्र अपने खेत पर मटर की फसल की कटाई कर बीती रात खेत पर ही लेट गया था। जब सुबह आसपास के खेत वाले अपने खेतों पर पहुचे तो देखा की मेड़ पर लगे बबूल के पेड़ पर देवेन्द्र का शव झूल रहा था। उसके मुंह में एक मोजा भी फंसा था। घटना की जानकारी तत्काल ग्राम प्रधान एव ग्रामीणों को दी गई। मौके पर पहुंचे ग्राम प्रधान प्रवीण यादव एव गांव वालों ने थाना टोड़ी फतेहपुर पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुचे थानाध्यक्ष शेरपाल सिंह ने शव को पेड़ से उतरवाकर मृतक के शव को अपने कब्जे में लिया और मृतक का पंचनामा भर कर पोस्टमार्टम के लिए मऊरानीपुर भेज दिया।

ग्राम प्रधान और गांव वालों की मानें तो देवेन्द्र अपने पिता की अकेली सन्तान था। पिता बच्चू यादव के ज्यादा बुजुर्ग होने और आंखों से दिखाई न देने की वजह से देवेन्द्र ही पूरी खेती संभालता था। मृतक के पिता के पास करीब नौ एकड़ मौजा रजवारा में खेती है। जिसमें मटर की फसल थी। हाल ही में ओलावृष्टि व बेमौसम बरसात के चलते उसकी फसल भी खराब हुई थी।
मृतक की पत्नी रागनी ने भी बताया कि अतिवृष्टि से मटर, चना और गेहूं की फसलें तबाह हो जाने से मेरे पति चिन्तित रहते थे।

मेरे पति ने अपनी ससुराल वालो से खेती के लिए कुछ रुपये ले रखे थे। जिसकी चिंता सताती रहती थी। रोज की भांति मेरे पति खेत पर गये हुए थे। सुबह पेड़ से लटक कर फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। मृतक के गले में शादी का एक कार्ड पड़ा हुआ था। जिसमें मृतक ने अजीब सी राईटिंग में तीन नाम लिखे हैं साथ ही पत्नी के भाग जाने की बात दर्शाई गई है। चर्चाएं आम हैं कि मामला पति-पत्नि के बीच अनबन को लेकर भी हो सकता है।Ñ

मोजे को लेकर असमंजस में थाना प्रभारी

मृतक के मुंह में मोजे ठूंसे हुए पाए गए थे। इससे यह अंदाजा लगाया जा रहा था कि किसी ने उसकी हत्या करने के लिए पेड़ से लटकाया होगा और आवाज न निकले इसके लिए यह उपाय किया होगा। हालांकि इस संबंध में जब थाना प्रभारी शेरपाल सिंह ने पहले तो मुंह में मोजे ठूंसे होने की बात को सिरे से खारिज कर दिया। बाद में उन्होंने कहा कि हो सकता है कि आत्महत्या करने से पहले मृतक ने आवाज न निकलने के लिए यह तरीका अपनाया हो।

सुसाइड नोट पर भी दिखे दो मत

मृतक के गले में किसी शादी के कार्ड पर एक सुसाइड नोट पड़ा मिला है। इसमें अजीब से हैंडराईटिंग में कुछ लोगों के नाम लिखे हैं तो उसकी पत्नि के किसी के साथ भाग जाने के बारे में भी लिखा था। इस मामले में भी दो अलग मत दिखाई दिए। सुसाइड नोट के मामले में पत्नी उसे अपने पति की राईटिंग होने से नकारती दिखी तो वहीं ग्रामीण उसे मृतक की राईटिंग बताते नजर आए।

Next Story
Share it