Top
Action India

उप्र: कोरोना वायरस से बचाव को काशी में संत पहुंचे हनुमत दरबार

उप्र: कोरोना वायरस से बचाव को काशी में संत पहुंचे हनुमत दरबार
X

वाराणसी। एएनएन (Action News Network)

चीन के वुहान शहर से निकला जानलेवा कोरोना वायरस कोविड दुनिया के 76 देशों में कहर बरपाते हुए भारत भी दस्तक दे चुका है। प्रदेश में कोविड के संदिग्ध मरीज मिलने पर अन्य शहरों में भी वायरस के फैलने की आशंका गहराने लगी है। वायरस को लेकर लोगों में बेचैनी देख वाराणसी में शुक्रवार को लोग साधु संतों के साथ संकटमोचन हनुमान जी के शरण में पहुंच गये।

ईश्वरगंगी नरहरपुरा स्थित पातालपुरी मठ में जुटे साधु संतों के साथ नागरिकों ने पीठाधीश्वर महंत बालक दास के अगुवाई में हनुमान मंदिर में पूजा पाठ कर हनुमान जी से कोरोना वायरस से बचाव के लिए गुहार लगाई। आपदा का रुप ले चुके कोरोना वायरस से बचाव के लिए संतों ने हनुमान चालीसा का पाठ कर विश्व कल्याण का कामना किया।

महंत बालक दास ने मीडिया कर्मियों से बातचीत में कहा कि आज कोरोना वायरस से पूरी दुनिया में भय का माहौल है। भारत के कुछ जिलों में भी वायरस से संक्रमित मरीज मिले हैं। देश में इसका प्रकोप न फैले इसके लिए हनुमान जी की आराधना की गई। हर संकट का निवारण प्रभु हनुमान के पास हैं।

हनुमान चालीसा में कहा गया है 'नासे रोग हरे सब पीरा, जपत निरंतर हनुमत वीरा'। उनके नाम से ही बड़े से बड़े रोगों का विनाश हो जाता है। महंत बालक दास ने लोगों से अपने शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने की अपील कर कहा कि गोमूत्र सेवन करने से इस वायरस से लड़ने में सहायता मिलेगी।

Next Story
Share it