Action India

यमुनानगर: अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन ने अपनी मांगो को लेकर ज्ञापन सौंपा

यमुनानगर: अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन ने अपनी मांगो को लेकर ज्ञापन सौंपा
X

यमुनानगर। एक्शन इंडिया न्यूज़

हरियाणा अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन इकाई यमुनानगर के पदाधिकारियों ने मंगलवार को जिला उपायुक्त को अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। आढतियों ने मांग की कि जिले की सभी अनाज मंडियों के शेड व राइस मिल्स में जो बकाया स्टाक पडा है उसे जल्द से जल्द उठाया जाए। ताकि किसान वहां पर अपनी धान की फसल डाल सकें ।

नई धान की फसल की खरीद के लिए नये बारदाने का भी इंतजाम कराया जाए। आढतियों ने कहा कि मार्किट कमेटी के सचिव को आदेश दिए जाए कि वह आढती को मार्किट फीस का डर ना दिखाएं क्योकि यह किसान की फसल है और इसके सूखने के बाद ही इसे खरीदा जाएगा । उन्होंने कहा कि अनाज मंडी में सफाई और लाईट व्यवस्था को भी ठीक कराया जाए। उन्होंने कहा कि अभी तक कुछ किसान पनी फसल को ''''मेरी फसल मेरा ब्यौरा'''' पोर्टल पर दर्ज नहीं करा सकें है तो पोर्टल को 7 दिन के लिए खोला जाए। किसान की फसल को खरीद शुरू होने के दिन से ही सीमित मात्रा में खरीदा जाए । उन्होंने कहा कि किसान को फसल का भुगतान उसकी इच्छा के अनुसार हो। उन्होंने कहा कि इस वर्ष की आढतियों की कमीशन के जो पैसे काटे गए हैं उन्हे तुरंत वापिस दिए जाए। लेबर का भुगतान भी किसान की फसल के भुगतान के साध आढती के खाते में दिया जाए। जीरी उठान की पेमेंट का भुगतान आढती एसोसिएशन के बिना ना किया जाए। उन्होंने कहा कि रसूलपुर मंडी सीमांत किसान का पोर्टल हिमाचल का जिला सोलन किया गया है उसे जिला सिरमौर के अंतर्गत किया जाए। उन्होंने कहा कि म॔डियों परिसर के अलावा अन्य खरीद सेन्टर बनाए जाए।एक्शन इंडिया न्यूज़


हरियाणा अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन इकाई यमुनानगर के पदाधिकारियों ने मंगलवार को जिला उपायुक्त को अपनी मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। आढतियों ने मांग की कि जिले की सभी अनाज मंडियों के शेड व राइस मिल्स में जो बकाया स्टाक पडा है उसे जल्द से जल्द उठाया जाए। ताकि किसान वहां पर अपनी धान की फसल डाल सकें ।

नई धान की फसल की खरीद के लिए नये बारदाने का भी इंतजाम कराया जाए। आढतियों ने कहा कि मार्किट कमेटी के सचिव को आदेश दिए जाए कि वह आढती को मार्किट फीस का डर ना दिखाएं क्योकि यह किसान की फसल है और इसके सूखने के बाद ही इसे खरीदा जाएगा । उन्होंने कहा कि अनाज मंडी में सफाई और लाईट व्यवस्था को भी ठीक कराया जाए। उन्होंने कहा कि अभी तक कुछ किसान पनी फसल को ''''मेरी फसल मेरा ब्यौरा'''' पोर्टल पर दर्ज नहीं करा सकें है तो पोर्टल को 7 दिन के लिए खोला जाए। किसान की फसल को खरीद शुरू होने के दिन से ही सीमित मात्रा में खरीदा जाए । उन्होंने कहा कि किसान को फसल का भुगतान उसकी इच्छा के अनुसार हो। उन्होंने कहा कि इस वर्ष की आढतियों की कमीशन के जो पैसे काटे गए हैं उन्हे तुरंत वापिस दिए जाए। लेबर का भुगतान भी किसान की फसल के भुगतान के साध आढती के खाते में दिया जाए। जीरी उठान की पेमेंट का भुगतान आढती एसोसिएशन के बिना ना किया जाए। उन्होंने कहा कि रसूलपुर मंडी सीमांत किसान का पोर्टल हिमाचल का जिला सोलन किया गया है उसे जिला सिरमौर के अंतर्गत किया जाए। उन्होंने कहा कि म॔डियों परिसर के अलावा अन्य खरीद सेन्टर बनाए जाए।

Next Story
Share it