Action India

दो दशक बाद पहुंचा ढाणी शेरांवाली डिस्ट्रीब्यूटरी पर पानी, अब खत्म होगी सेम की समस्या

दो दशक बाद पहुंचा ढाणी शेरांवाली डिस्ट्रीब्यूटरी पर पानी, अब खत्म होगी सेम की समस्या
X

चंडीगढ़। एक्शन इंडिया न्यूज़

ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र के हजारों किसान इन दिनों खुश हैं क्योंकि करीब दो दशक बाद जहां ढाणी शेरांवाली डिस्ट्रीब्यूटरी में पानी पहुंचा है वहीं बहुत जल्द सेम प्रभावित क्षेत्रों की दशकों पुरानी समस्या का समाधान होने जा रहा है। ऐलनाबाद हलके के गांव नीमला, खारी-सुरेरां, मिठ्ठी-सुरेरां, किशनपुरा, कर्म-सयाना, मिठनपुरा व ढाणी-शेरा के किसान लंबे समय से सिंचाई की समस्या से जूझ रहे थे। पानी की मांग को लेकर किसानों द्वारा पांच माह से धरना भी दिया जा रहा था।

किसानों के अनुसार वह इस समस्या के समाधान को लेकर तत्कालीन विधायक से कई बार मिले लेकिन कोई हल नहीं हुआ। इस समस्या के समाधान हेतु ग्रामीण जब मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मिले तो उन्होंने महज 24 घंटे के भीतर समस्या का समाधान करवाते हुए अंतिम टेल तक पानी पहुंचाया। अब ऐलनाबाद के किसान प्रदेश के अन्य किसानों की तरह अगली फसलों की बुआई कर सकेंगे।

ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र के दो दर्जन गांवों में सेम की समस्या कई सालों से चली आ रही है। ग्रामीणों की मानें तो यहां के विधायक ने चुनावों में वोट लेने के लिए वादे तो हर बार किए लेकिन उनकी समस्या का समाधान नहीं किया। ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र के दो दर्जन से अधिक गांव पिछले पांच दशकों से सेम की समस्या से जूझ रहे हैं जिसके चलते इन गांवों में न तो कोई फसल हो सकती है और न ही ग्रामीण कोई काम धंधा कर सकते हैं।

हाल ही में ऐलनाबाद के लोगों ने भाजपा के वरिष्ठ नेता जगदीश चोपड़ा तथा भाजपा नेता एवं प्रगतिशील किसान रमेश भादू के नेतृत्व में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के समक्ष इस समस्या को उठाया तो मुख्यमंत्री के निर्देश पर सेम की समस्या के स्थाई समाधान का प्लान तैयार हो चुका है। ऐलनाबाद में चुनाव आचार संहिता के चलते वर्तमान में इसे लागू करने में कई तरह की दिक्कतें आ रही हैं। चुनाव आचार संहिता समाप्त होते ही ऐलनाबाद के लोगों को पचास साल पुरानी समस्या से भी छुटकारा मिलेगा। सिरसा जिले से आचार संहिता हटने के बाद तत्काल डेढ़ सौ करोड़ रुपये की लागत से इस सिंचाई और पेयजल प्रोजेक्ट को पूरा कराया जाएगा।

Next Story
Share it